चुनावी वादों से पीछे हटी पंजाब सरकार, कहा गरीबों को नहीं मिलेगा 5 रुपये में खाना

चंडीगढ़। चुनाव खत्म होने के बाद आम नागरिकों को पंजाब सरकार ने जो वादे किए थे सरकार उनसे पीछे हटती नजर आ रही है। चुनावी प्रचार के दौरान कैप्टन ने कई ऐसे वादे किए थे जिसकी सरकार अब अनसुनी कर रही है। जी हां युवाओं को स्मार्ट फोन, किसानों के कर्ज माफ करने, घर-घर रोजगार देने जैसे अनेक चुनावी वादे पूरे करने की बात को बार बार दोहराने वाली कैप्टन सरकार 5 रूपए में खाना देने की अपनी बात को झुठलाती दिख रही है।

ऐसे में गरीब और बेघर तबके के लोगों को 5 रूपए में खाने की थाली हाल फिलहाल नसीब नहीं होने के आसार हैं। सी.एम. अमरेंद्र सिंह ने कहा कि 5 रुपए में खाना देना मुश्किल है। उन्होंने बताया कि रेड क्रॉस सोसाइटीज ने 5 रुपए में खाना देने में असमर्थता जताई है। 5 रुपए में खाने की थाली से सोसाइटीज को होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए सरकार विचार करेगी उसके बाद ही 5 रूपए में खाना मिलना संभव हो पाएगा।

बता दें कि कांग्रेस ने चुनावी घोषणा पत्र में सस्ती रोटी के नाम सभी जिला और सब-डिवीजन मुख्यालयों पर कम्यूनिटी किचन चलाए जाने की घोषणा की थी। ये किचन जिला रेड क्रॉस सोसायटीज द्वारा चलाई जानी है।