रुड़की में दिखा ईंट भट्टा मालिकों का गुस्सा, धरना प्रदर्शन

रुड़की। लंढौरा क्षेत्र में आज ईट भट्टा मालिकाें का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने लंढौरा चौकी के कैम्पस में ही अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन शुरू कर रुड़की एसडीएम के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उत्तराखंड में लंढौरा क्षेत्र को राज्य का ईट उत्पादन का हब माना जाता है यहाँ ईटो के उत्पादन के लिये लगभग 80 भट्टे मौजूद है ईटो को तैयार करने के लिये बड़ी मात्रा में मिट्टी की जरुरत पड़ती है जिसके लिये मिट्टी आस-पास के इलाको से ही खनन करके भट्टो पर मंगाई जाती है।

शासन के आदेशानुसार दो घनमीटर तक मिट्टी के खनन करने की परमिशन भी भट्टो को मिली हुई है बावजूद इसके ईट भट्टा संघ का आरोप है कि पुलिस और प्रशासन के कुछ अधिकारी अवैध खनन का आरोप मढ़कर उनके ट्रैक्टर-ट्रॉलियों और जेसीबी को सीज कर रहे है जिसे भट्टा संघ बिलकुल बर्दाश्त नहीं करेगा और पुलिस-प्रशासन के इस तानाशाही कदम के खिलाफ आंदोलन करेगा। इस मामले में सीओ मंगलौर का कहना है कि भट्टा संगठन के पदाधिकारियों ने उन्हें मिट्टी खुदाई का शासनादेश तो दिखाया है लेकिन इस मामले में राजस्व के आलाधिकारी डीएम या एसडीएम ही ज्यादा बेहतर बता पाएंगे क्योंकि तहसीलदार के साथ ही पुलिस अफसर और कर्मचारी सीज की कार्यवाही करते है।

अब ये देखने वाली बात होगी की भट्टा स्वामी जिस शासनादेश का हवाला देकर खनन को उचित ठहरा रहे है वो सही है या पुलिस-प्रशासन की मिट्टी खनन के खिलाफ की गई कार्यवाही,जिसे प्रशासन ने अवैध करार देते हुए खनन में लगे वाहनों को सीज किया है।

 -शकील अनवर