इलेक्ट्राॅनिक वोटिंग के विरोध में धरना प्रदर्शन, निकाली मशीन की शव यात्रा

हमीरपुर। इलेक्ट्रानिक वोटिंग के विरोध में भारत मुक्ति मोर्चा की अगुवाई में तीन दिवसीय धरना प्रदर्शन शुरू किया गया था। धरने के आखिरी दिन ईवीएम मशीन की शव यात्रा निकल कर विरोध दर्ज करने का निर्णय लिया गया था। भारत मुक्ति मोर्चा के जिलाध्यक्ष बौद्व महेश चमन की अगुवाई में कलेक्ट्रट स्थित गोल चबूतरे पर धरना प्रदर्शन शुरू किया गया था। महेश चमन ने बताया कि इस प्रदर्शन का उद्देश्य विधान सभा चुनाव में ईवीएम में हुई धांधली की जाँच करने व पुन: बैलेट पेपर से चुनाव कराए जाने की मांग है। उन्होंने कहा की ईवीएम में गड़बड़ी है, इस बात का खुलासा समय समय पर खुद भाजपा नेताओं ने किया है जिसके खिलाफ याचिकाएं भी हुई थी। ईवीएम मशीनों से निष्पक्ष चुनाव नही हो सकता। इस मशीन से लोकतंत्र को भी भारी नुकसान पहुंचेगा।

उत्तर प्रदेश में ईवीएम मशीन के विरोध में बीएसपी की सुप्रीमो सुश्री मायावती ने तो विधान सभा चुनाव 2017 के नतीजे आये ही अपना विरोध दर्ज कर एक लम्बी बहस को जन्म दे ई वी एम को दोषी ठहराया था.लेकिन अब बीएसपी पार्टी के साथ बहुजन मुक्ति मोर्चा पार्टी भी साथ हो ली है.जिसके चलते आज इस पार्टी के कार्यकर्तायो ने जिला कलक्ट्रेट परिसर में ई वी एम मशीन का विरोध प्रदर्शन किया और ई वी एम के विरोध मे नारे बाजी के साथ ही इस पार्टी के कार्यकर्ताओ का मानना है की आगामी आने वाले चुनाव मे ई वी एम का प्रयोग ना हो और चुनाव निष्पक्ष हो।

बहुजन मुक्ति मोर्चा पार्टी के कार्यकर्ताओं का आरोप है की भाजपा ने प्रदेश की जनता के साथ धोखा कर के बहुमत पाया है जिसके चलते उनकी भाजपा पार्टी की सरकार यूपी मे बनी.लेकिन आगामी आने वाले चुनावो मे बैलेट पेपर का इस्तमाल हो और चुनाव निष्पक्ष हो सके। और जनता में जो रोष है उसे समाप्त किया जा सके।

आज तीसरे दिन धरना स्थल से ईवीएम मशीन के शव को लेकर शहर के बस स्टेण्ड,पेट्रोल पम्प चौराहा,आकिल तिराहा सुभाष बाजार अस्पताल तिराहा कालपी चौराहा होता हुआ कलेक्ट्रट में समाप्त हुआ इस यात्रा में सर्वेश कुमार महासचिव,प्रताप नरायण,बालगोविन्द सोनकर,चन्द्रप्रकाश,हरिशंकर,सहदेव, झललो, वीरेंद्र,अवधेश प्रजापति, विमल खन्ना,राजकुमार, शिवकरण ,हरिराम, चौधरी कलीम, इंस्पेक्टर गयाराम वर्मा, आशाराम अहिरवार,नत्थू प्रसाद आदि मौजूद रहे।

 -सन्तोष चक्रवर्ती