बीकानेर में प्नीति ने अपनी पहली राजस्थानी फिल्म ‘तावड़ो ‘ का किया प्रमोशन

बीकानेर। राजस्थानी मूवी की हीरोईन ‘मोहब्बतें गर्ल ‘ प्रीति झांगियानी ने मंगलवार को बीकानेर में कहा कि थार मरुस्थल के तपते रेतीले धोरों पर उन्होंने पहली बार कोई मूवी की है और उन्हें यहां का रोमांच शानदार देखने को मिला। पत्रकारों से रुबरु हुईं प्रीति यह भी बोलीं वे इस फिल्म के माध्यम से बॉलीवुड में कमबैक भी कर रही हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि जिस तरह बॉलीवुड की उनकी पहली फिल्म मोहब्बतें सुपरहिट हुई थी ठीक उसी तरह राजस्थानी पहली मूवी भी सुपरहिट होगी।

होटल वृन्दावन रीजेंसी में पत्रकार सम्मेलन में प्रोड्यूसर तेजकरण हर्ष की मौजूदगी में प्रीति बोलीं कि वीरों, महाराजाओं की धरती राजस्थान की लोकेशन और यहां की मिठास भरी बोली उन्हें पहली बार में ही भा गयीं ‘इट्स टोटली अमेजिंग। एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि वे अब तक कई तरह के शोज मेें व्यस्त थीं इसी वजह से हिन्दी फिल्मों में नहीं दिखीं। लेकिन अब तावड़ो के बाद पुन: से बॉलीवुड में एंट्री कर रही है। ‘आवारा पागल दीवाना ‘, ‘आन ‘ सहित कई हिन्दी फिल्मों में अपने अभिनय का जलवा बिखेर चुकीं प्रीति ने कहा कि फिलहाल उनका टेलीविजन के दौर में जाने का कोई इरादा नहीं है।

फिल्म के प्रोड्यूसर तेजकरण हर्ष ने कहा कि राजस्थानी फिल्मों के अब तक के इतिहास में एक साथ 78 सिनेमाघरों में राजस्थान दिवस के मौके पर 31 मार्च को एक साथ प्रदर्शित होने वाली पहली फिल्म है ‘तावड़ो।एक शुद्ध रुप से पारिवारिक दो बच्चों के इर्द-गिर्द घूमने वाली फिल्म है। ऊंच नीच, जाति-पांति भेदभाव की बेडिय़ां हमें आगे बढ़ने नहीं दे रही है, अगर इनसे आगे बढ़ना है तो सब चीजों से ऊपर उठना होगा।

जब ऐसा होगा तो बदलाव की न केवल बयार आएगी बल्कि तरक्की के रास्ते भी एकदम खुल जाएंगे। ऐसे ही संदेश फिल्म में दिखाए गए हैं। उन्होंने बताया कि धु्रव इंफोटेनमेंट के बैनर तले बनी राजस्थानी मूवी में राजस्थान की संस्कृति, यहां के रहन-सहन के अलावा समाज में अभी तक विद्यमान जाति प्रथा पर करारा वार किया गया है।

फिल्म की सबसे बड़ी बात यह है कि हमने बच्चों के माध्यम से नारी शक्ति के मातृत्व भावना व जातिवाद के जहर का इस्तेमाल कर लोगों को बरगलाने वाले सफेद पोशो पर करारा वार किया है। राजस्थान दिवस पर फिल्म को रिलीज करने सम्बन्धी प्रश्न के उत्तर में हर्ष ने कहा कि राजस्थानी भाषा व राजस्थानी सिनेमा को गौरवान्वित करने में हमारा भी छोटा सा प्रयास शामिल हो इसीलिए इस दिन रिलीज की जा रही है।