फिनलैंड के प्रधानमंत्री ने जीएसटी लागू करने पर दी मोदी को बधाई

नई दिल्ली। फिनलैंड के प्रधानमंत्री जुहा सिपीला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन कर सामान एवं सेवा कर (जीएसटी) के ऐतिहासिक और सफल कार्यान्वयन के लिए उन्हें बधाई दी।


सोमवार को दोनों नेताओं के बीच टेलीफोन पर हुई बातचीत में फरवरी 2016 में हुई बैठक के बाद द्विपक्षीय संबंधों की प्रगति की समीक्षा की गई। सिपीला बीते वर्ष मुंबई में ‘मेक इन इंडिया’ वीक में भाग लेने के लिए भारत के दौरे पर आए थे। उस वक्त उन्होंने मोदी के साथ द्विपक्षीय व्यापार और निवेश संबंधों को और मजबूत बनाने के तरीकों पर भी चर्चा की।

जीएसटी यानी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स की शुरुआत के साथ ही भारत दुनिया के उन गिने चुन देशों में शामिल हो गया है जिनमें राष्ट्रीय स्तर पर एक बिक्री कर लागू है।
जीएसटी के लागू होने के साथ ही देश में केन्द्र और राज्यों के स्तर पर लगने वाले एक दर्जन से अधिक कर समाप्त हो गए है उनके स्थान पर केवल एक टैक्स लगेगा।
जीएसटी की चार दरें 5, 12, 18 और 28% है अनाज समेत कई समानों पर जीएसटी 0 फीसदी रहेगा यानि टैक्स मुक्त कर दी गई हैं।
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि जीएसटी से एक कर एक बाजार और एक राष्ट्र का सपना पूरा हुआ जेटली ने कहा कि भारत में अब केन्द्र और राज्य सरकारें मिलकर साझी समृद्धि के लिए काम करेंगे।
जीएसटी को आजादी के बाद देश का सबसे बड़ा कर सुधार माना जा रहा है इसे आर्थिक क्रान्ति का नाम दिया जा रहा है
जीएसटी से देश की 2000 अरब की अर्थव्यवस्था और 1.3 अरब लोग सभी एक साथ जुड़ जाएंगे और पूरा देश एक साझा बाजार बन जाएगा।
जीएसटी का आइडिया सामने आने के बाद इस पूरी प्रकिया को पूरा होने में 17 साल का समय लगा।
जीएसटी से वर्तमान में बहुत सारी कर व्यवस्था समाप्त होगी और कर के ऊपर लगने से माल की लागत पर बढ़ने वाला बोझ भी समाप्त होगा।
जीएसटी लागू होने के साथ ही 31 राज्य एंव केन्द्र शासित प्रदेश एक साथ जुड़ गए टोल नाकाओं पर लम्बी कतारे भी समाप्त हो गई।