राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार उत्तराखंड के दौरे पर आये राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

देहरादून। राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार देवभूमि उत्तराखंड के दौरे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद देवभूमि पहुंचे। जहां पर विशेष विमान के जरिए दो दिवसीय दौरे पर आये राष्ट्रपति का पदार्पण दिल्ली से देहरादून स्थित जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर हुआ। जहां पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने खुद महामहिम की अगुवानी की। एयरपोर्ट से सीधे राष्ट्रपति हरिद्वार के लिए रवाना हो गए राष्ट्रपति के साथ सीएम और उनके मंत्रिमंडल के कई मंत्री भी रवाना हुए। सूबे में दो दिवसीय दौरे पर आये राष्ट्रपति कोविंद ने हरिद्वार स्थित हर की पैड़ी पर गंगा पूजन भी किया।

इसके बाद वो दिव्य सेवा आश्रम भी गए। इस आश्रम में राष्ट्रपति का जुड़ाव काफी पुराना रहा है। इस आश्रम से करीब 17 साल से जुड़े हैं। बतौर राज्यसभा सांसद उन्होने यहां पर लोगों की सेवा के कार्यों में अपनी सांसद निधि से 25 लाख रूपये भी दिए थे। यहां पर आयोजित कार्यक्रम का भी हिस्सा बनने हुए राष्ट्रपति महोदय ने अपने जीवन के साथ इस आश्रम से अपनी जुड़ी हुई कई यादों का भी लोगों के बीच जिक्र किया। राष्ट्रपति महोदय हरिद्वार के बाद देहरादून के लिए निकल गए यहां पर रात्रि में राजभवन में आयोजित भोज का हिस्सा बनते हुए वो रात्रि को राजभवन में विश्राम करेंगे। इसके बाद रविवार को राजधानी में आयोजित कई कार्यक्रमों में हिस्सा भी लेंगे।

सूबे के खराब मौसम के चलते शायद उनका बाबा केदारनाथ जाने का कार्यक्रम रद्द कर दिया जाये लेकिन अभी प्रशासन ने इस बारे में कोई सूचना नहीं दी है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को बाबा केदारनाथ धाम में एक घाट का शिलान्यास भी करना था। इस कार्यक्रम को लेकर प्रशासन ने कई सारी तैयारियां की हुई थीं। लेकिन मौसम की खराब हालात देखते हुए इस कार्यक्रम के रद्द होने के आसार दिख रहे हैं। इसके पहले राष्ट्रपति कोविंद का आगमन चुनाव के समय हुआ था। उस समय राष्ट्रपति कोविंद ने उत्तराखंड का दौरा कर यहां के विधायकों से मुलाकात कर वोट करने की अपील की थी। अब बतौर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पहली बार देवभूमि के दौरे पर आये हैं।