72 घंटों में पुलिस के हत्थे चढ़ी दो असलहा बनाने वाली अवैध फैक्ट्रियां

उन्नाव। उन्नाव में आज चुनाव आचार संहिता लगने के बाद उन्नाव पुलिस और स्वाट टीम ने मुखबिर की सुचना पर छापेमारी कर अवैध असलहा फैक्टरी पकड़ी जहां पर भारी मात्रा में बने हुए अवैध असलहे पुलिस ने बरामद किये है। 72 घंटे के अन्दर अवैध असलहा की ये दूसरी फैक्ट्री पकड़ी गयी है जिसके चलते उन्नाव जनपद की पुलिस आत्मविश्वास से लबरेज है।

उन्नाव में आज गंगाघाट थाना इलाके में पुलिस और स्वाट टीम की सयुक्त रुप से छापेमारी कर अवैध असलहा बनाने वाली फैक्ट्री पकड़ी जिसमें असलहा बनाने वाले 3 लोगो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। वहीं मौके पर से पुलिस ने 22 अवैध असलहे और असलहा बनाने वाले उपकरण गंगाघाट पुलिस और स्वाट टीम ने बरामद की। आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल गंभीर धाराओं में जेल भेज दिया है।

इस बारे में नेहा पाण्डेय, एसपी का कहना है कि ये हमारे डी आई जी रेंज श्री प्रवीण कुमार के निर्देशन में एक अभियान चल रहा है जो ये आगामी विधान सभा चुनाव है उसके चलते की ज्यादा से ज्यादा जो अवैध शस्त्र जनपद में बन रहे है और सप्लाई हो रहे है उनको रोका जाये उनकी रोकथाम हो इसीलिए हमने एडिसनल एसपी सीओ सिटी दोनों के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच और एसो गंगाघाट की टीम ने लग के ये पूरा हथियारों का एक जखीरा बरामद किया है जिसमे बीस अदद अवैध कट्टे है जिसमे ग्यारह 312 बोर के और नौ 315 के और आधा दर्जन अधबने प्लस पूरा सामान जो फैक्ट्री है उसको सीज किया है इसमें जो अनूप सिंह है अनूप सिंह उर्फ बउवा ये इसके मास्टर माइंड है

इसके अलावा दो लोग एक सुनील रावत और एक देशराज रावत इनको भी ग्रिफ्तार किया गया है ये लोग सामुदायिक स्वास्थ केंद्र जो पीपर खेडा मोहल्ला पड़ता है। गंगाघाट में वहां एक बाग में रहके इस अवैध फैक्ट्री का संचालन कर रहे थे और ये पिछले आठ दस साल से लगातार इसी काम में लगे हुए है इन सभी का अपराधिक इतिहास है ये पहले भी बंद हो चुके है, इसमें जो देशराज है उनके ऊपर एक 302 का भी एक मुकदमा माखी से और जो इसके सरगना है अनूप ये कानपुर देहात रसूलाबाद के रहने वाले है इन लोगो ने यही योजना बनायीं थी ज्यादा से ज्यादा कट्टे बनाके चुनाव के दौरान सप्लाई करेंगे मगर ये जो अवैध शास्त्रों की फैक्ट्रियो उन्नाव में चल रही है उससे ये अवैध जो असलहे सप्लाई हो रहे है उसमे इसपे रोकथाम होगी इनसे पूछताछ की गयी तो इन्हों ने बताया चुनाव के दौरान डिमांड बढ़ गयी थी।

 -अनूप कुमार वर्मा