पुलिस ने किया सेक्स रैकेट का भंड़ाफोड़

मेरठ। मेरठ में पुलिस के हाथ एक बड़ी कामयाबी लगी है। यहां पुलिस ने अवैध रूप से चल रहे सेक्स रैकेट का भंड़ाफोड़ किया है। मामला लाला का बाजार क्षेत्र के कानूनगोयन मोहल्ले का है। जहां एक महिला सरकारी स्कूल के परिसर में अवैध रूप से रह रही थी। कोर्ट के आदेश के बाद जब पुलिस अवैध कब्जा खाली कराने पहुंची तब पूरा मामला सामने आया। दरअसल जब पुलिस मौके पर पहुंची उस वक्त घर में तीन युवतियां मौजूद थी और पुलिस को देखकर युवतियों में हड़कंप मच गया। पुलिस को शुरूआत में कुछ समझ नहीं आया लेकिन धीरे-धीरे पुलिस को सब कुछ समझ में आ गया पुलिस ने जब छानबीन शुरू की तो घर से भारी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुए, वही पूछताछ में पता चला की आरोपी महिला लंबे वक्त से सेक्स रैकेट चला रही थी।

कई सालों से कोर्ट में विचाराधीन था मामला

दरअसल संतोष नामक आरोपी महिला ने पिछले कई सालों से गोयनका सरकारी स्कूल के एक हिस्से पर कब्जा किया हुआ था जिसका मामला कोर्ट में विचाराधीन था। कोर्ट ने मामले में सुनवाई करते हुए भवन स्वामी के पक्ष में निर्णय सुनाया और पुलिस को मकान से अवैध कब्जा खाली कराने का आदेश दिया जिसके चलते मंगलवार सुबह साढ़े दस बजे पुलिस मकान से कब्जा खाली कराने पहुंची तो पुलिस को देखकर घर में अफरा-तफरी का माहौल बन गया और युवतियां घर से बाहर भागने लगी।

लोगों ने ली राहत की सांस

पुलिस के उठाए इस कदम से क्षेत्र के लोगों ने राहत की सांस ली और महिला पर घर में सेक्स रैकेट संचालित किए जाने का आरोप लगाया। लोगों ने बताया कि आरोपी महिला पिछले कई वर्षों से इस मकान में रह रही थी और पहले भी उसके घर पर पुलिस का छापा लगा था लेकिन फिर भी महिला पर कार्रवाई नहीं हुई। लोगों का कहना है कि महिला के घर पर पूरे दिन अराजक तत्वों और युवतियों का जमावड़ा लगा रहता था और अगर कोई विरोध करता तो महिला उसे फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर उसका मुंह बंद कर देती थी आलम यह था कि महिला के घर आनेजाने वाले युवकों के डर के चलते क्षेत्र की महिलाओं और युवतियों ने घर से अकेले निकलना छोड़ दिया था।