सूबे में हाई अलर्ट के बाद भी नहीं नजर आ रहे पुलिसकर्मी

हरदोई। हरदोई जिले में हाई अलर्ट जारी है। देश पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है ऐसे में विधानसभा जैसे स्थलों में बम विस्फोटक पदार्थ मिल रहे हैं। प्रदेश का CM ही सुरक्षित नहीं है। हरदोई में सुरक्षा व्यवस्था की बात की जाए तो सार्वजनिक स्थलों पर यात्रियों की कितनी सुरक्षा व्यवस्था की जा रही है, जनपद के पुलिस अगर कोई भी बड़ी घटना घटित हो जाती है इस तरीके से जिले की पुलिस उससे उससे निपटने के लिए तैयारियां कर रखी है कि सुरक्षा के लिहाज से सिर्फ एक दो पुलिसकर्मी दिखाई पड़ रहे हैं।

police, high alert, up, high alert in up, hardoi, police, crime
high alert in hardoi

हरदोई जिले के सार्वजनिक स्थलों का सच तलाशे तो केंद्र के दावे की पोल खुलती नजर दिखाई दे रही है। अगर स्टेशन की बात की जाए तो स्टेशनों पर एक भी पुलिसकर्मी तैनात नहीं है। किसी भी वक्त यहां आतंकवादी प्रवेश कर सकते हैं और बड़ी घटना को अंजाम दे सकते है। पूरे प्रदेश में हाई अलर्ट जारी है लेकिन अधिकारी आराम से सोते हुए दिखाई दे रहे हैं।

हरदोई के रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के नाम पर एक भी पुलिसकर्मी तैनात नहीं दिखाई देता है। केंद्र सरकार ने यह कह रखा है आतंकवादी कांवड़ियों का रूप लेकर यहां आतंकी आ सकते हैं। लेकिन हाई अलर्ट के बाद भी प्रदेश का बुरा हाल है। जहां खुद योगी की सुरक्षा व्यवस्था में ढील नजर आती दिखी है। विधानसभा के अंदर ही विस्फोटक सामग्री मिलने से हड़कंप जाता है लेकिन आतंकवाद किस जनपद को अपना निवाला बना ले या बड़ी बात नहीं है। अब सवाल यह उठ रहा है कि जब प्रदेश के मुख्यमंत्री ही सुरक्षित नहीं हैं तो आम जिलों की क्या स्थिति होगी और कितनी सुरक्षा व्यवस्था जिले के चुस्त-दुरुस्त दिखाई दे रही है यह तस्वीरें खुद ही बयां कर रही है।