धूप में पड़ा रहा पीड़ित, हाथ बांधकर खड़ी रही पुलिस

मेरठ। योगी सरकार यहां एक तरफ पुलिस व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं कि पुलिस जनता के साथ गलत व्यवहार नहीं करें तो दूसरी तरफ पुलिस ने भी योगी के फरमान को ना मानने की कसम खा रखी है। मामला मेरठ पुलिस ऑफिस का है जहां एक दिव्यांग पुलिस उत्पीड़न का शिकार होकर एसएसपी दफ्तर के सामने पड़ा हुआ है। हर कोई दिव्यांग के सामने से निकलता रहा लेकिन किसी का भी ध्यान दिव्यांग पर नहीं गया। सभी लोग हाथ बांधकर दिव्यांग के पास से निकल गए लेकिन कोई भी दिव्यांग पर ध्यान नहीं दे रहा है।

कड़ी धूम में इस दिव्यांग पर छांव में बैठे पुलिस के किसी भी नुमाइंदे की नजर नहीं गई। जिसके बाद मौके पर मीडिया पहुंच गई। ऐसे में मीडिया को देखकर जब पुलिसकर्मी आए भी तो मामला छोटा समझ कर वापस अंदर की ओर चले गए।
दरअसल पीड़ित के साथ बदमाशों ने अभद्र व्यवहार किया और पीड़ित के पिता के साथ भी बदमाशों ने गाली-गलोच की। ऐसे में पीड़ित की मांग है कि पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार कर ले। पीड़ित का कहना है कि, ‘मैं पुलिस के पास कई बार चक्कर लगा चुका हूं लेकिन पुलिस मामले में कोई गंभीरता नहीं दिखा रही है’ पीड़ित ने आगे कहा कि ‘इस मामले में मैं मुख्यमंत्री का आर्डर भी ले आया लेकिन पुलिस सब कुछ जानने के बाद भी आंख बंद करके बैठी हुई है’