रिश्वत के बदले पुलिस वाले ने मांगी इज्जत, महिला ने की गिरफ्तारी की मांग

जोधपुर। राजीव गांधी नगर के निलंबित थानाधिकारी कमलदान चारण द्वारा रिश्वत में अस्मत मांगने के मामले में पुलिस गिरफ्तार गणपत विश्नोई से रिमांड अवधि में उसका पीडि़त महिला के खिलाफ मुंह खुलवाने का प्रयास कर रही है। उसके मुंह खोलते ही पुलिस महिला को भी गिरफ्तार करने की तैयारी में है। फिलहाल गणपत विश्नोई चार दिन के पुलिस रिमांड पर है। उससे पूरी साजिश के साथ ही ब्लैक मैजिक कैफे में चल रही अनैतिक गतिविधियों के बारे में भी पूछताछ चल रही है।

पीडि़त महिला के पति पंकज वैष्णव और एसआई कमलदान को जेल भिजवाने के मुख्य सूत्रधार गणपत विश्नोई को पुलिस ने बुधवार को अदालत में पेश कर चार दिन के रिमांड पर लिया था। जांच अधिकारी बोरानाडा एसीपी सिमरथाराम उससे पूछताछ कर रहे हैं। जांच में पता चला है कि वह महिला के ब्लैक मैजिक कैफे का काम संभालता था।

वह पंकज को पसंद नहीं करता था, इसलिए उसे अफीम तस्करी के केस में फंसा दिया। वहीं, एसआई का महिला के प्रति बढ़ते प्यार से भी वह नाराज था। इसलिए उसे भी एसीबी से ट्रैप करवाकर जेल भिजवा दिया। इस साजिश में महिला की भूमिका की भी जांच की जा रही है। अगर उसकी भूमिका भी सामने आती है तो उसे भी पूछताछ के लिए दस्तयाब और जरूरत पडऩे पर गिरफ्तार किया जा सकता है।

एसीपी सिमरथाराम ने बताया कि महिला ने जिस कार को छोडऩे के लिए रिश्वत दी थी, वह कार भी पुलिस ने जब्त कर ली है। इसके साथ ही गणपत अपनी एक्टिवा की डिक्की में डालकर एक किलो अफीम गांव से लाया था और तीन जून को पंकज के साथ कार में बैठकर उसे बेचने जा रहा था। इसलिए उसकी एक्टिवा भी जब्त की गई है।

रिमांड के दौरान उससे अफीम बेचने के मामले में महिला की भूमिका के बारे में पूछताछ की जा रही है। साजिश के तहत महिला के पति को एनडीपीएस एक्ट के तहत फंसाना और एसआई कमलदान को जेल भिजवाने की जांच की जा रही है।