पुलिस को मिली कामयाबी, सरकारी गेहूं की तस्करी कर रहे 2 युवक गिरफ्तार

सिद्धार्थनगर। सूबे में सत्ता परिवर्तन होने के साथ ही योगी सरकार लगातर एक्शन में है। वही पहले जो पुलिस अपराध होने के बाद भी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहती थी वही अब सत्ता परिवर्तन होने के बाद सक्रिय होती नजर आ रही है। बदमाशों में पुलिस का खौफ इस कदर है कि, अपराध करने से पहले अपराधी कई बार सोच विचार करते हैं। दरअसल जिले में सरकारी गल्ले को अवैध तरीके से बेचे जाने की सूचना लगातार जिले के कप्तान सत्येन्द्र कुमार को मिल रही थी।

कप्तान ने बनाई स्पेशल टीम
लगातार सूचना मिलने के बाद पुलिस कप्तान सत्येन्द्र कुमार ने अपराध पर लगाम लगाने के लिए 13 सदस्यों की टीम का गठन किया। पुलिस को मुखबीर ने सूचना दी कि उस्का बाजार के पकडी चौराहे से अवैध खाद्यान से लदी ट्रोली निकलने वाली है। जिसके बाद पुलिस की टीम और उस्का बाजार पुलिस ने संयुक्त प्रयास से आती हुई ट्रेक्टर ट्राली को रोका। पूछताछ करने पर पता लगा की ट्राली में सरकारी मोहर लगी 100 बोरा गेहूं बेचने के लिए जा रही थी।

पुलिस ने गेहूं किया जब्त
कार्रवाई करते हुए पुलिस ने ट्रेक्टर ट्राली में लदे गेहूं को जब्त किया और मौके से दो लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस पकड़े गए दोनों आरोपियों को जेल भेजने की तैयारी कर रही है।
इस सब के बाद अब सवाल ये उठता है कि सरकारी गेहू्ं को किसके कहने पर बेचा जा रहा था और वे कौन लोग हैं जिनके कहने पर इस सब को अंजाम दिया जा रहा है। वही पुलिस इन सभी सवालों का जवाब ढूंढने में लगी हुई है जिससे पर्दे के पीछे छिपे लोगों को बेनकाब किया जा सके