हाथरस में अपराधी को पकड़ने में पुलिस असफल

हाथरस में अपराधी और पुलिस एवं प्रशासन का प्रेम मेले में देखने को मिला जहां मेले में दंगल के मंच पर पुलिस अधिकारी और प्रसाशनिक अधिकारी के साथ भगवा कपड़ो में नजर आ रहे शख्श पर धोखाधड़ी, डकैती, हत्या का प्रयास सहित कई थानों में गुंडा एक्ट में कई संगीन मुकदमे दर्ज हैं। संगीन मामलों में आरोपी को प्रशासन ने आंख मुंदकर मेले के सबसे बड़े कार्यकर्म दंगल का संयोजक बना डाला।

police fail to catch the culprit

जब इस मामले पर उपजिलाधिकारी अमिताभ यादव से जानकारी की गई तो उनका कहना था कि भीड़भाड़ में फोटो खिंचवाने से किसी को मना नहीं किया जा सकता है। जब उनसे दर्जनों संगीन अपराधों के आरोपी को दंगल संयोजक बनाए जाने के विषय में पूछा गया तो मामले की जांच कराने की बात कहकर वह सवालों से बचते नजर आए। अपराधी के साथ फोटो की बात कहने पर एसडीएम साहब ने कुछ देर के लिए चुप हो गए।

दंगल संयोजक बनाए गए हरिशंकर राना उर्फ भूरा पहलवान पूर्व में भाजपा के जिला अध्यक्ष भी रह चुके हैं। जिनके आपराधिक इतिहास की लिस्ट बहुत लंबी है। जनपद और जनपद से बाहर के जिलों के थानों में भी इनके खिलाफ कई अपराधिक मामले दर्ज हैं। वहीं अपनी पत्नी को छोड़कर दूसरी महिला को पत्नी बना रखा इस मामले में भी थाने में मुकदमा लिखा गया है। वही इन सबसे अंजान पुलिस इन्हें पकड़ना तो दूर इनके साथ फोटो खींचाने में गर्व महसूस कर रही है।