हरदोई जिले में अपराधों पर अंकुश लगाने में पुलिस नाकाम, जली कार में मिला शव

हरदोई। यूपी में भाजपा का शासन आने के बाद अपराधों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है यह वहीं भाजपा है जो सपा सरकार पर लचर कानून व्यवस्था का आरोप लगाती रही है आज सरकार के कई महीने बीत जाने के बाद भी सरकार का अपराधों पर कोई भी नियंत्रण नहीं रह गया है हालात सपा सरकार से भी बदतर होते नजर आ रहे हैं अपराधियों के हौसले इस कदर बुलंद है कि कानपुर हरदोई हाईवे पर मझिला पुल के पास जली एक वैगनआर कार में शव बरामद हुआ है शव इस कदर जल चुका है कि उसकी पहचान लगाना मुश्किल हो गया है कि वह महिला है या पुरूष अब इसी मझिला पुल पर पुलिस की एक चौकी है और डायल 100 सेट की गाड़ी हमेशा वही पर रहती है इसके बावजूद चंद कदम की दूरी पर यह हादसा हो गया, यह बार-बार पुलिस के ऊपर एक सवालिया निशान बन कर उठता है।

आपको बता दें यह पूरा मामला हरदोई जिले के सुरसा थाना क्षेत्र के मझिला पुल कमरौली रोड पर एक वैगनआर कार का है। कार जलती हुई देखी गई जिसमें एक शव भी जला हुआ मिला शव पीछे की सीट पर रखा हुआ था शव इतना जल चुका था कि उसकी पहचान लगाना मुश्किल था की वह महिला है या पुरुष ऐसे में गांव के लोगों की माने तो यह घटना 3 से 4 बजे के बीच की है, लेकिन सुरसा पुलिस वहां पर 6 बजकर 30 मिनट पर पहुँची, लगभग 2 घंटे बाद सुरसा पुलिस घटना स्थल पर पहुंचती है, अब ऐसे में सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का 15 मिनट में घटना स्थल पर पहुंचने के दावा खोखला साबित हो रहा है
गांव के लोगों की मानें तो उनके मुताबिक कार में धमाका हुआ धमाका गांव तक सुनाई दिया और आग की लपटें इतनी तेज उठी कि वहां पर पेड़ भी झुलस गए अंदाजा यह लगाया जा रहा है कि हत्या कर आग के हवाले कर दिया गया वैगनआर कार को अब देखने वाली बात यह होगी कि इसका पुलिस कितनी जल्दी खुलासा करती है, या फिर सैकड़ों केसों की तरह यह भी रहस्य बनकर रह जाता है। वही सूचना मिलते ही मौके पर पहुँचकर अपर पुलिस अधीक्षक ज्ञानंजय कुमार सिंह ने घटना स्थल का मुआयना किया और बारीकी से जांच की वही घटना स्थल पर फॉरेंसिक टीम भी पहुंच कर जांच में जुटी गई।