योगी राज में नहीं सुधरता पुलिस प्रशासन

हरदोई। देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में सत्ता पलट होते ही योगी सरकार अपना एक्शन दिखाने लग गई। योगी सरकार आए दिन अपराधियों पर नकेल कसने के लिए कई सारे कदम उठा रही है। वही सूबे में पुलिस प्रशासन को सुधारने के लिए योगी सरकार तरह तरह के कदम उठा रही है। आए दिन योगी सरकार द्वारा पुलिस प्रशासन में फेरबदल का दौर चल रहा है। लेकिन योगी द्वारा लाख कोशिश करने के बाद भी सूबे में पुलिस प्रशासन सुधारने का नाम नहीं ले रही है। यहां योगी सरकार की कोशिशों पर पुलिस प्रशासन द्वारा पलीता किया जा रहा है। मामला हरदोई का है। जहां पर एसओ पर रिश्वत लेने का गंभीर आरोप लगाया गया है।

एक बार फिर हरदोई जिले में एसओ पर रिश्वत मांगने का आरोप लगा है यह वही SO हैं जो अभी कुछ दिन पूर्व एक किसान से 20 हजार रुपए रिश्वत मांगने के आरोप में लताड़े गए थे। उसके 3 दिनों बाद किसान का ट्रैक्टर और ट्राली थाने से छोड़ दिया गया था बिना किसी आरोप में पकड़ा गया ट्रैक्टर-ट्राली सिद्ध होने के बावजूद SO पर कोई कार्यवाही नहीं हुई थी। इतना सब कुछ हो जाने के बाद भी एसओ अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।

अब दूसरा मामला सामने आया है। पूरा मामला सुरसा थाना क्षेत्र के भिखरियापुर गांव का है जहां पर पीड़ित रामेश्वर प्रसाद की जमीन पर प्रधान की शह पर भूमाफियाओं ने सपा सरकार में कब्जा कर लिया था। उसके बाद पीड़ित रामेश्वर अधिकारियों के चक्कर काट रहा था। सूबे में बीजेपी की सरकार आने पर रामेश्वर की आस जगी उसने SDM को पूरी आपबीती सुनाई। एसडीएम ने पुनः जमीन पर कब्जा करने के आदेश एसओ सुरसा को दे दिए लेकिन पीड़िता को थाने से भगा दिया गया उसके बाद दोबारा पीड़िता SDM साहब के पास पहुंची।

एसडीएम ने दोबारा एसओ को आदेश दिया कि इस गरीब की जमीन पर तुरंत कब्जा दिलाया जाए लेकिन SO ने गरीब किसान रामेश्वर से 25 हजार रुपए मांगे और कब्जा दिलाने का आश्वासन किया। लेकिन रामेश्वर ने पैसे नहीं दिए तो दबंग SO ने रामेश्वर के पूरे परिवार पर मुकदमा दर्ज कर दिया पीड़ित रामेश्वर का आरोप है की एसओ ने विपक्षियों से पैसे लेकर फर्जी मुकदमा हमारे परिवार पर दर्ज किया गया है। जबकि एसडीएम के  6 दिन के आदेश के बाद  मुकदमा दर्ज किया गया पीड़ित ने SP विपिन कुमार मिश्रा को प्रार्थना पत्र देकर एसओ सुरसा पर कार्रवाई करने की बात कही है वही आरोप लगाया है कि इनके रहते कभी भी मुझे फंसाया जा सकता है। SP ने पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए SO सुरसा पर जांच के  आदेश दे दिए हैं।