पुलिस पर लगा युवक की हत्या का आरोप, परिजनों ने किया सड़क को जाम

सोमवार को पूरा देश ईद की खुशियां मनाएगा। ऐसे में झारखंड में पिपरवार थाना के बहेरा गांव में एक युवक की हत्या का आरोप परिजनों ने पुलिस पर लगाया है। बीते दिनों पुलिस द्वारा घर में घुसकर एक युवक का एनकाउंटर करने की खबरें सामने आई थी। जिसके बाद परिजनों ने मृतक 25 वर्षीय सलमान उर्फ राजा की हत्या का आरोप पुलिस पर लगाया था। जानकारी थी कि मुस्लिम लड़के का एनकाउंटर फर्जी बताया था। जिस पर फर्जी एनकाउंटर करने वाले पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित भी किया गया था। परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि जबरदस्ती पुलिस उनके घर पर आई और सलमान को घर से घसीट कर बाहन निकाला गया जिसके बाद पुलिस ने उसे अपनी गोली का शिकार बना दिया। जिसके बाद शुक्रवार को ही गांव वालों की मदद से उसे अस्पताल में भर्ती कराय गया जहां इलाज के दौरान डॉक्टरों ने युवक को मृत घोषित कर दिया।

मृतक के पिता का कहना है कि शुक्रवरा को करीब 10 बजे पुलिस उनके घर पर आई और ईद की तैयारी कर रहे सलमान को घर से लेकर चली गई। मृतक के पिता का कहना है कि सलमान उस वक्त ईद की तैयारियां कर रहा था और उस वक्त वह ईद के लिए लाए गए कपड़ों को दिखाने लग रहा था। ऐसे में जमादार ने सलमान को घर के बाहर निकाल कर जवानों के हवाले कर दिया और अचानक से गोली चलते की आवाज आई।
जानकारी है कि पुलिस ने मृतक के सीने में एक गोली और पीठ पर दो गोलियां मारी है। पुलिस की इस करतूत के कारण परिजनों में आक्रोश पैदा हो गया और उन्होंने पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। परिजनों के साथ ग्रामीण बहेरा मस्जिद चौके पर पास एकत्रित हो गए और सड़क पर जाम लगा दिया। सड़क पर जाम लगाने के कारण दोनों तरफ से रोड की रफ्तार थम गई और यातायात ठप पड़ गया। ग्रामीणों की तरफ से चतरा उपायुक्त को एक ज्ञापन सौंपा गया है जिसमें मृतक के परिवार की मांग है कि हत्या में शामिल सभी पुलिसकर्मियों को बरखास्त किया जाए तथा मृतक के परिवार में से एक युवक को सरकारी नौकरी देने की मांग की गई है। जब पुलिस मृतक के गांव शनिवार को पहुंची तो पुलिस को मृतक के शव तक पहुंचने के लिए परिजनों तथा ग्रामीणों के गुस्से का सामना करना पड़ा। दोपहर के बाद कई स्थानीय नेता और अधिकारी गांव में पहुंचे तो उन्होंने ग्रामीणों को समझाया गया जिसके बाद उनका गु्स्सा शांत हुआ।