बिहार में 634 गांवों में बिजली पुहंचाने का काम बाकी है: उर्जा मंत्री

पटना। केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि ग्रामीण विद्युतीकरण मामले में बिहार राज्य तीव्र गति से आगे बढ़ने वाले राज्यों में से एक राज्य है। उनका कहना है कि देश में अभी भी 3997 गांव ऐसे हैं जहां अभी तक बिजली नहीं पहुंच पाई है, 1 मई 2018 तक इन गांवों में बिजली पहुंचाई जाएगी। पीयूष गोयल का कहना है कि बिहार में 2014-15 में 375, 2015-16 में 1686 और 2016-17 में 571 गांवों में बिजली पहुंचाई गई है। उन्होंने कहा कि दीनदयाल उपाध्याय ग्रम ज्योति योजना में बिहार का कोई पैसा उर्जा मंत्रालय के पास बकाया नहीं बचा है। वही पीयूष गोयल ने कहा कि अगर बिहार सरकार वक्त पर काम करें तो केंद्र सरकार 15 प्रतिशत इंसेटिव देगी।

 

 

वही प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो ने एक ट्वीट में केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल की जारी की गई बुलकेट के हवाले से 18 मई, 2017 तक गांवों के विद्युतीरण प्रोजेक्ट की स्टेटस रिपोर्ट दी है। रिपोर्ट के मुताबिक शत-प्रतिशत विद्युतीकृत राज्य त्रिपुरा और हिमाचल प्रदेश के अलावा उत्तर प्रदेश सहित कुल चार राज्य हैं जहां 10 से कम गांवों में बिजली पहुंचाने का कार्य बचा हुआ है। आपको बता दें कि राजस्थान में सिर्फ एक गांव में बिजली नहीं है जबकि नागालैंड में दो गांव में बिजली नहीं पहुंच पाई है।