16 जून से पेट्रोल-डीजल की कीमतें होगी रोज तय

मुंबई। देश की तीन प्रमुख तेल विपणन कंपनियां 16 जून से पेट्रोल-डीजल की कीमतें रोज तय करेंगी। यह कीमत कच्चे तेल की वैश्विक कीमतों के आधार पर तय होगी। वर्तमान में तेल कंपनियां हर 15 दिन पर कीमतों की समीक्षा करती हैं।

 

पेट्रोल और डीजल की कीमतें रोज तय होने के दौरान डीलरों को कोई परेशानी नहीं हो, इसके लिए इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने देशभर में 87 कंट्रोल रूम स्थापित किए हैं जो 24 घंटे काम करेंगे। यह कंट्रोल रूम डीलरों के सामने आने वाली तकनीकी परेशानियों को दूर करेंगे जो तेल की कीमतें रोज संशोधित होने के कारण आएगी।
इनमें से 70 डिविजन में स्थापित कंट्रोल रूम में टेक्निकल, ऑपरेशन और रिटेल सेल्स ऑफिसर तैनात होंगे। राज्य कार्यालयों के 16 कंट्रोल रूम की देखरेख का जिम्मा इंफोर्मेशन सिस्टम मैनेजर, इंजीनियरिंग और रिटेल सेल्स ऑफिसर पर होगा। यह कंट्रोल रूम तब तक काम करेंगे जब तक कि रोज बदलने वाली तेल की कीमतों के लिए एक ठोस प्रणाली विकसित नहीं कर ली जाती।
इसके अलावा इंडियन ऑयल यह सुनिश्चित कर रहा है कि नया रेट तय होते ही उसके डीलरों के पास 24 घंटे के भीतर तेल की 90 फीसदी आपूर्ति हो जाए। तेल की रोज की कीमत हरेक पेट्रोल पंप पर प्रदर्शित की जाएगी। इसके अलावा ग्राहक कीमत जानने के लिए इंडियन ऑयल के एप fuel@ioc की मदद ले सकते हैं। इसके अलावा मैसेज के माध्यम से भी कीमतों का पता लगाया जा सकता है। इसके लिए अंग्रेजी में आरएसपी लिखने के बाद स्पेस देना होगा और डीलर कोड लिख कर 9224992249 पर मैसेज करना होगा।

सबसे बड़ी रिफाइनरी होगी स्थापित
तेल मार्केटिंग कंपनियों इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन भारत, पेट्रोलियम और हिन्दुस्तान पेट्रोलियम ने महाराष्ट्र के रत्नागिरी जिले में 30 अरब डॉलर दो लाख करोड़ रुपये की लागत से देश की सबसे बड़ी रिफाइनरी स्थापित करने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इस रिफाइनरी में आईओसी की हिस्सेदारी 50 फीसदी होगी जबकि हिन्दुस्तान पेट्रोलियम और भारत पेट्रोलियम की हिस्सेदारी 25-25 फीसद होगी।