फ्रांस में उठी मस्जिदों को बंद कराने की मांग

पेरिस। फ्रांस की राजधानी में पुलिस बस पर हुए आतंकी हमले से देश में हो रहे राष्ट्रपति चुनावों में हवा का रुख ही बदल गया है। चुनावों में जीत की प्रबल दावेदार दक्षिण पंथी प्रत्याशी मरीन ली पेन ने इस हमले के बाद देश के सभी इस्लामिक मस्जिदों को बंद कराने की मांग की है, जबकि कड़ी सुरक्षा के बीच देश में रविवार को पहले दौरका मतदान जारी है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पेन ने मतदान से पहले इस्लामिक आतंकवाद पर कड़ा और हमलावर रुख अपनाते हुए कहा, “फ्रांस की सभी मस्जिदों को बंद कर देना चाहिए। साथ ही घृणा फैलाने वालों को निकाल देना चाहिए और देश की सीमाओं की चौकसी भी बढ़ा देनी चाहिए। सभी कट्टरपंथियों पर नजर रखना चाहिए और उनकी नागरिकता रद्द कर उन्हें देश निकाला दे देना चाहिए।”

विदित हो कि आतंकी हमले के बाद फ्रांस में तीन प्रमुख प्रत्याशियों फ्रेंक्वा फिलन, पेन और निर्दलीय एमानुएल मैक्रोन ने अपने-अपने चुनाव प्रचार रद्द कर दिए थे। यह अभी अस्पष्ट है कि आतंकी हमले से ‘इस्लामिक आतंकवाद’ के खिलाफ कड़ा रुख रखने वाली ली पेन को कितना फायदा होगा।

गौरतलब है कि गत दिनों पेरिस में पुलिस अधिकारियों को निशाना बनाकर की गई गोलीबारी में एक अधिकारी की मौत हो गई और दो अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में एक संदिग्ध को मार गया ,वहीं, दूसरे की तलाश के लिए छापे मारे जा रहे हैं। आंतकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने हमले की जिम्मेदारी ली थी।