मरीजों के मुफ्त सरकारी सेवाओं पर भी वसूले जा रहे हैं शुल्क!

बलिया। यूपी में सत्ता परिवर्तन के बाद मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी को जैसे ही  यूपी की कमान मिली हर तरफ परिवर्तन के बयार बहने लगी पर बलिया मे इसका असर नही दिख रहा। बलिया के स्वाथ्य विभाग मे खुलेआम मरीजों से सुविधा के नाम पर अवैध शुल्क लिया जा रहा है जब इसकी जानकारी सदर विधायक आनंद स्वरूप शुक्ल को लगी तो जिला चिकित्सालय में विधायक जी पहुच गए  जिससे जिला चिकित्सालय मे स्वाथ्य विभाग के कर्मचारियों मे हड़कंप मच गयी।

जिला चिकित्सालय मे जैसे ही विधायक जी पहुंचे स्वाथ्य विभाग के कर्मचारियों मे हड़कंप मच गयी, आलम यह था कि सरकार द्वारा चलाई जा रही निःशुल्क नेत्र आपरेशन सेवा में कर्मचारिओ द्वारा 2000 से 2500 रुपए सुविधा शुल्क लिया जा रहा था, जिसपर विधायक जी भड़क गए और अधिकारियों और कर्मचारियों को खूब खरी खोटी सुनाई।

निःशुल्क नेत्र आपरेशन मे कर्मचारियों द्वारा 2000 से 2500 रुपए सुविधा शुल्क को जिलचिकित्साअधीक्षक जीसी मौर्य ने स्वीकारा और विधायक को आश्वासन दिया कि भविष्य मे ऐसी गलती नहीं होगी और दोषियो के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी।

जो सपना प्रदेश के मुख्यमंत्री देख रहे कि भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश यूपी बने तो क्या इस तरह अधिकारियों और कर्मचारियो के रहते और शपथ लेने के बाद भी भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे यह सम्भव नही ! इसके लिए आम जनता को भी जागरूक होना होगा ,अधिकारियो  कर्मचारियो को भी निजी स्वार्थ छोडना होगा तभी उत्तर प्रदेश उतम प्रदेश बनेगा बहरहाल जो भी हो  अब  देखना यह है कि क्या उत्तर प्रदेश उतम प्रदेश बनेगा या जुमला ही रह जाएगा।

 -संजय कुमार तिवारी, संवाददाता बलिया