मेरठ बसपा कार्यालय पर कार्यकर्ताओं का हंगामा, आपस में भिड़े समर्थक

मेरठ। मेरठ में बसपा कार्यालय पर आज जमकर बवाल हुआ, पार्टी के बड़े नेताओं के होर्डिंग व पोस्टर की होली जलाकर नेताआें के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई, इस दौरान समर्थको में जमकर कहा सुनी भी हुई, घण्टो तक चले हंगामे में बड़े नेता कार्यालय से भाग खड़े हुए, उग्र कार्यकर्ताओ ने पार्ट के बड़े नेता नसीमुद्दीन सिदिकी के साथ अतर सिंह राव पर पार्टी को कम्पनी की तरह चलाने का आरोप लगाया।


बसपा की करारी हार के बाद बसपा के वरिष्ठ नेता अधिकतर जिलो में जकर समीक्षा बैठक कर रहे है, आज मेरठ के पार्टी कार्यालय में भी बैठक बुलाई गई थी इसमें जिले के सभी प्रत्याशी, नेता, कार्यकर्ता बुलाए गए थे, इस बैठक में खुद पार्टी महासचिव नसीमुद्दीन सिदिकी पहुचे थे लेकिन जैसे ही बैठक शुरू हुई, वैसे ही योगेश वर्मा और प्रसांत गौतम के समर्थक आपस में भिड़ गए, समर्थको के अपने अपने तर्क थे, अपने खिलाफ दुष्प्रचार का आरोप लगाकर नेता भी उग्र हो गए, हंगामा बढ़ता देख बड़े नेता निकल लिए, साथ ही पार्टी कार्यालय में भारी संख्या में आए कार्यकर्ताओ ने वेस्ट यूपी प्रभारी अतर सिंह राव, व नसीमुद्दीन सिदिकी पर पार्टी को कम्पनी की तरह चलने का आरोप लगते हुए जमकर हंगामा कर दिया, दोनों नेताओ को होर्डिंग, पोस्टर और पार्टी के झंडो की होली जलानी शुरू कर दी।

हाजी याकूब कुरैशी ने नसुमदुद्दीन को किसी तरह कार्यालय में घुसाकर जान बचाई, मामला शांत होने पर नसुमुद्दीन को निकाला गया। कार्यकर्ताओ ने आरोप लगाया कि इन नेताओं ने पार्टी को हरा दिया, साथ ही पार्टी को कही का नही छोड़ा, पार्टी का भविष्य ही अँधेरे में डाल दिया, इतना ही नही पैसे लेने का आरोप भी लगाया गया, फिलहाल कार्यालय में हंगामा तो शांत हो गया है, लेकिन जो तूफान पार्टी में उठा है वो ना जाने अब कब शांत होगा?

इस दौरान भारत खबर ने नसुमुद्दीन से बात करने की कोशिश भी की लेकिन वो मीडिया से अपना मुंह छिपकर निकल गए, जबकि हाजी याकूब कुरैशी ने जरूर कहा की ये कार्यकर्ताओ का जोश है, लेकिन इस तरह का जोश पार्टी का क्या हाल करेगा ये तो किसी को नही पता।

 -शानू भारती