वाघा बॉर्डर पर अटका पाकिस्तान जाने वाला करोड़ों का भारतीय माल

अमृतसर। भारत के कारोबारियों को झटके के बाद झटके देते हुए पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय व्यापार संधि की धज्जियां उड़ा रहा है। भारत से पाकिस्तान को निर्यात होने वाली सब्जियों और सोयाबीन पर रोक लगाने के बाद अब पाकिस्तान सरकार ने मसालों व मूंगफली दाना पर भी रोक लगा दी है। ये चीजें मुंबई से कराची और अटारी (अमृतसर) से वाघा (लाहौर) स्टेशनों पर रेल से भेजी जाती हैं। पिछले एक सप्ताह से पाकिस्तान के दोनों रेलवे स्टेशनों से कोई भी भारतीय माल को पास करने के बाद बाहर बाजार में नहीं भेजा गया है।

Wagah border
Wagah border

बता दें कि फेडरेशन ऑफ किरयाना एंड ड्राई फूट कामर्शियल एसोसिएशन के प्रधान अनिल मेहरा ने बताया कि इधर से मसालों में बड़ी इलायची, लाल मिर्च, सत इसबगोल और मूंगफली दाना पाकिस्तान को भेजा जा रहा है। व्यापारियों ने बड़ी मात्रा में उक्त सामान पाक भेजा और उससे कहीं अधिक मात्रा में मसालों तथा मूंगफली दाने आदि का स्टाक किया, ताकि आने वाले दिनों में पाक निर्यात किया जा सके।

वहीं मेहरा का कहना है कि पाक सरकार ने पिछले एक सप्ताह से लाहौर रेलवे स्टेशन या कराची रेलवे स्टेशन से कोई भी भारतीय माल पास नहीं किया। इससे भारतीय कारोबारियों का 200 करोड़ रुपये से लेकर 300 करोड़ रुपये तक का नुकसान हुआ है। एक तरफ करोड़ों का माल वाघा स्टेशन पर तो करोड़ों का ही स्टाक कारोबारियों के गोदामों में बंद है। उन्होंने बताया कि इस बाबत जल्द ही प्रधानमंत्री को पत्र लिख रहे हैं, ताकि अपनी इंडो-पाक कारोबार नीति में बदलाव किया जाए।