ट्रंप ने नहीं दिया नवाज को बोलने का मौका, पाक ने दिया ‘बेइज्जती’ करार

सऊदी अरब। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हाल ही में सऊदी अरब के दौरे पर थे, इस दौरान वहां नवाज शरीफ भी शामिल थे। इस्लामिक समिट के कार्यक्रम के दौरान डोनाल्ड ने शरीफ की जिस तरह से अनदेखी की उसे पाकिस्तान ने बेइज्जती करार दिया है और इसको लेकर नवाज शरीफ की काफी आलोचना भी हो रही है। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक इस्लामिक समिट के दौरान नवाज शरीफ अलग-थलग पड़ गये और आतंकवाद के मुद्दे पर उन्हें अपनी राय नहीं रखने दी गई।

नवाज ने की थी स्पीच पर काफी मेहनत

दरअसल, इस्लामिक स्टेट समिट के कार्यक्रम में जब डोनाल्ड अपनी स्पीच दे चुके तो उनके बाद कई नेताओं ने अपने विचार रखे। नवाज शरीफ भी इसके लिए काफी तैयारी करके आए थे कि उनको भी अपनी राय रखने का मौका मिलेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ और नवाज को वहां बोलने का मौका नहीं दिया गया। वही डोनाल्ड ने अपने भाषण में नवाज के सामने कहा कि भारत आतंकवाद से प्रभावित देश है।

बता दें कि सऊदी अरब की विदेश यात्रा पर गए अमेरिकी राष्ट्रपति ने रियाद में 50 इस्लामिक देशों के नेताओं को संबोधित किया। डोनल्ड ट्रंप ने अपने संबोधन में मुस्लिम देशों से अपील कि की वो आतंकवाद को खत्म करें। उन्होंने कहा कि अपनी पाक जमीन पर आतंकवाद को न पनपने दें। सऊदी दौरे पर डोनाल्ड ट्रंप के सुर भी बदलते नजर आए। आतंकवाद को लेकर ट्रंप अक्सर ‘रैडिकल इस्लामिक आंतकवाद’ शब्द का इस्तेमाल करते रहे हैं। ट्रंप ने कहा कि आतंकवाद को लेकर पश्चिम और इस्लाम के बीच लड़ाई नहीं है। बल्कि यह अच्छाई और बुराई के बीच की लड़ाई है।