‘ऑस्कर’ भारत लाने की उम्मीदे फिर टूटी, खाली हाथ लौटे देव

नई दिल्ली। लॉस एंजलिस के डॉल्बी में 26( भारतीय समय के हिसाब से 27 फरवरी की सुबह) को ऑस्कर अवॉर्ड का आयोजन किया गया है। आपको बता दें की ऑस्कर दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित फिल्म अवॉर्ड है और इस साल 89 वे एकैडमिक अवॉर्ड सेरेमनी में सबसे ज्यादा नॉमिनेशन पाने वाली मूवी ‘ला ला लैंड है’। ‘ला ला लैंड’ को 14 कैटेगरीज में नॉमिनेशन मिला है।

इस साल भारत के देव पटेल को भी ‘लॉयन’ फिल्म के लिए बैस्ट सपोर्टिंग एक्टर केटेगरी में नॉमिनेट किया गया था लेकिन इसी कैटेगरी में फिल्म ‘मूनलाइट’ के लिए नॉमिनेट हुए माहेरशाला अली ने यह अवॉर्ड अपने नाम किया।

साथ ही माहेरशाला यह ऑस्कर जीत कर पहले ऑस्कर विनिंग मुस्लिम बन गए है। इसके अलावा बेस्ट सिनेमैटोग्राफी का अवॉर्ड फिल्म ‘ला ला लैंड’, बेस्ट लाइव एक्शन शॉर्ट का अवॉर्ड फिल्म ‘सिंग’, बेस्ट शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री का अवॉर्ड फिल्म ‘द व्हाइट हेल्मेट’, बेस्ट एडिटिंड का अवॉर्ड फिल्म ‘द हॉकशॉ रिज’, बेस्ट विजुअल इफेक्ट्स का अवॉर्ड ‘फिल्म द जंगल बुक’, बेस्ट प्रोडक्शन डिजायन का अवॉर्ड फिल्म ‘ला ला लैंड’, बेस्ट एनिमेटिड फीचर फिल्म का अवॉर्ड ‘जूटोपिया’, बेस्ट एनिमेटिड शॉर्ट फिल्म का अवॉर्ड ‘द पाइपर’, विदेशी भाषा की सर्वश्रेष्ठ फिल्म का अवॉर्ड ईरान की ‘द सेल्समैन’, बेस्ट एनिमेटिड शॉर्ट फिल्म का अवॉर्ड ‘द पाइपर’ को मिला है। साथ ही बेस्ट विजुअल इफेक्ट्स का अवॉर्ड फिल्म ‘द जंगल बुक’ को दिया गया है।