प्याज की चाय मधुमेह के साथ हाइपरटेंशन और मोटापा रोकने में खासा मददगार है

नई दिल्ली। भाग दौग की इस बदलती जिन्दगी में रोगों को लेकर लोगों में लगातार उनके इलाज को लेकर जागरूकता खत्म होती जा रही है। कई बिमारियों का इलाज घरेलू नुस्खों में ही होता है। जिनके जरिए हम ऐसी बिमारियों पर काफी हद तक निजात पा सकते हैं या फिर उनके प्रभाव को कम कर सकते हैं। क्योंकि आज कल कुछ रोग ऐसे है जो कि हर इंसान के पास तो नहीं लेकिन 80 फीसदी लोगों को अपना शिकार बनाते जा रहे हैं। जिसमें ज्यादा तर युवावर्ग के कामकाजी लोग भी है। क्योंकि अब मेहनत शरीर की जगह दिमाग से होती है तो शरीर के कई आर्गन काम नहीं करते जिसके चलते आगे चलकर उन्हे दिक्कत होने लगती है।

आज कल की भाग दौड़ की जिन्दगी में कुछ रोग ऐसे हैं। जो कभी भी किसी की लाइफ में दस्तक दे जाते हैं। जैसे मधुमेह, उच्च रक्तचाप, नींद ना आना, मोटापा और बालों का लगातार टूटना, इसको लेकर लोग डॉक्टर के घर चक्कर मारते हैं। लाखों रूपए की दवा खरीदते हैं, लेकिन इन सब के बाद लाभ नहीं मिलता है। लेकिन अगर आप इनके साथ कुछ घरेलू उपाय को अजमाएं तो लाभ दूना मिल सकता है। ये नुस्खे कोई बड़े तौर पर आपको परेशानी में नहीं डालने वाले हैं। बस आप जैसी लाइफ जीते जा रहे हैं उसी के साथ इन नुस्खों को अपना सकते हैं। मसलन आप चाय के शौकीन हैं। स्वास्थ्य को देखते हुए अगर आप ग्रीन टी लेते हैं तो आपके लिए सबसे बेहतर है कि आप इसके साथ कुछ और भी लेने के लिए थोड़ा सा ध्यान दे सकते हैं।

जैसे सुबह मार्निंग वाक के बाद आप ग्रीन टी के साथ प्याज को उबालकर इसके पानी में ग्रीन टी को डाल दें इसमें थोड़ा सा स्वाद के लिए शहद को डाल दें। इसके साथ ही इसमें नींबू को डाल दें, फिर इसको मिलकर पीएं ये आपके लिए सबसे स्वास्थ्य दायक पेय पदार्थ है, क्योंकि इसमें इम्यूनिटी बढाने की सबसे अधिक पॉवर होती है। इस पेय को पीने से अनिद्रा की बिमारी पूरी तरह से ठीक हो जाती है। इसके साथ ही अगर आपको सर्दी -जुकाम की शिकायत है तो ये चाय आपके लिए मुफीद है। इसके अलावा रिसर्च में आया है कि इस चाय में शऱीर के अन्दर ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करने के साथ इन्सुलिन रेजिटेंट बढ़ाने के साथ टाइप-2 के शुगर रोगियों के लिए साखा मददगार साबित होती है। ये पेय हाइपरटेंशन को खत्म करने में सहायक होता है। इसके साथ ही इसके साथ ही विटामिन सी होने से शरीर में प्रतिरोधी क्षमता बढ़ती है। इसके साथ ही लगातार इसके सेवन से शरीर का फैट कम होता है। इसके साथ ही यह कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकने में खासा मददगार साबित होती है।