बहराइच के जंगलों से मिली रियल ‘मोगली गर्ल’

बहराइच। वैसे तो आपने कई बार मोगली को टीवी स्क्रीन पर देखा होगा और उसकी कहानियां सुनकर मन में ना जानें कितने तरह के खयाल बना लिए होंगे। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी बच्ची से मिलवाने जा रहे हैं जो कि सच में मोगली गर्ल ही है क्योंकि इस बच्ची को जानवरों से नहीं बल्कि इंसानों से डर लगता है।

दरअसल बहराइच में मोतीपुर पुलिस को देर रात गश्त लगाते हुए जंगलों की बीच में एक ऐसी लड़की दिखाई दी जो कि जानवरों के साथ रहती थी। कहा जा रहा है पुलिस ने इस मासूम बच्ची को बंदरों के बीच से निकालकर अस्पताल पहुंचाया जहां पर उसका इलाज चल रहा है। वहीं ये भी कहा जा रहा है जब ये बच्ची जवानों को जंगलों में मिली तो उसके शरीर पर कोई भी कपड़ा नहीं था।

वहीं इस बच्ची की हरकतों को देखकर पुलिस वालों का कहना है कि इसकी परवरिश बंदरों के बीच हुई है। बताया जा रहा है कि करीबन तीन महीने पहले इस बच्ची को लकड़ी बीनने वालों ने कतर्नियाघाट में देखा था और तब भी वो निर्वस्त्र थी और बेफिक्र थी। जब लकड़हारे इस बच्ची के पास गए तो कुछ बंदरों ने बच्ची को घेर लिया और किसी को उसके पास नहीं जाने दिया। हालांकि जंगलों में इस मासूम को कई बार देखा गया और ऐसे कहा जा रहा है कि चोट लगने की वजह से मासूम ठीक नहीं है।

ये पूरा मामला 20 जनवरी का है जब बच्ची को पुलिस वालों ने जंगलों से निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया। फिलहाल बच्ची की हालत में सुधार है लेकिन अगर उसके रहन-सहन की बात करें तो पूरी तरह से ही मोगली वाला है। क्योंकि ये मासूम मुंह से तरह-तरह की आवाजे निकालती है और बंदरो की तरह गुर्राती भी है। खाना थाली की जगह बेड पर गिराकर खाती है। इस मोगली गर्ल की उम्र 10 साल बताई जा रही है।