इस जगह 5 दिन तक कपड़े नहीं पहनती शादीशुदा महिलाएं, जानें कारण

शिमला। वैसे तो आपने शादी के बाद निभाई जाने वाली बहुत सी रसमों के बारे में सुना होगा, इनमें कई परंपराओं के बारे में शायद आपने कभी सुना भी नहीं होगा। इसी तरह शिमला के पास एक गांव में शादीशुदा महिलाएं 5 दिनों तक कपड़े नहीं पहनती।

हिमाचल प्रदेश के गांव में ये एक रिवाज है और ये रिवाज कई सालों से यंहा चलता आ रहा है। मणिकर्ण की घाटी में बसे इस गांव में शादीशुदा महिलाएं 5 दिन बिना कपड़े पहने गुजारती हैं। ये महिलाएं कपड़े की जगह ऊन से बनें पट्टू ही ओढ़कर अपना तन ढकती हैं। दूसरी और इन 5 दिनों तक पुरुष भी शराब नहीं पीते। साल के इन 5 दिनों में पति-पत्नि एक दूसरे से मजाक भी नहीं करते।

ये परंपरा केवल इतने पर ही खत्म नहीं होती, साल के इन दिनों में पति-पत्नि को बिलकुल अंजानों की तरह रहना होता है। महिलाएं, पुरुषो के सामने तक नहीं आती और इस दौरान पुरुषो को भी कुछ नियमों का पालन करना होता है।

आपको बता दें की यंहा के लोग 17 अगस्त से 21 अगस्त तक के समय को काला महीना मानते है। इसके पीछे एक कहानी है। लोगों का कहना है की इस समय में घोंड देवता पीणी पंहुचे थे और उस दौरान यंहा राक्षसों का आतंक था, लेकिन देवता के पीणी में पावं रखते ही उनका आतंक खत्म हो गया और इसी के बाद से इस परंपरा की शुरुआत हुई।