एम्स के बाहर नर्सों का धरना प्रदर्शन, प्रशासन पर लगाया लापरवाही का आरोप

नई दिल्ली। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) पर अपने ही एक गर्भवती नर्सिंग कर्मचारी के प्रसव प्रक्रिया में लापरवाही बरतने का गंभीर मामला सामने आया जिसमें पीड़ित राजबीर कौर की मौत हो गई है। इसके चलते एम्स में रविवार सुबह से नर्स एसोसिएशन धरने पर है।

गौरतलब है कि गत 13 जनवरी को एम्स चिकित्सकों ने महिला कर्मचारी का आखिरी एएनसी चेकअप किया। इसके बाद डॉक्टरों की सलाह पर गर्भवती को 16 जनवरी दोपहर 12 बजे एम्स में इनडेन्सड डिलीवरी के लिए प्रसूति विभाग में भर्ती कर लिया गया। इसके बाद शाम 6.30 तक सब कुछ सामान्य था, लेकिन अचानक शाम 7 बजे चिकित्सक ने पीड़िता के पति मनीष को आकर जानकारी दी कि मरीज की पानी की थैली फट गई है। डॉक्टरों ने राजबीर को हाईपरटेंशन और शुगर भी बताया था। साथ ही यह भी कहा था कि इस तरह की गर्भावस्था के दौरान ऐसे लक्षण उभर आते हैं।

इस मामले में महिला कर्मचारी के पति मनीष कुमार ने हौजखास पुलिस थाने में अपनी शिकायत दे दी है। इसके अलावा एम्स नर्सिंग यूनियन ने स्वास्थ्य मंत्री, मंत्रालय और एम्स प्रबंधन को पत्र लिखकर इस लापरवाही की जानकारी दी है। इस पूरे मामले पर फिलहाल एम्स प्रशासन ने कुछ भी बोलने से मना कर दिया है।