अब 90 मिनट तक रोजाना गश्त लगाएगी थाना पुलिस

लखनऊ। पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद ने प्रदेश के सभी पुलिस अधीक्षको को यह निर्देश दिए है कि सर्किल अफसर अपने सभी थानाध्यक्षों के साथ क्षेत्रों में 90 मिनट प्रतिदिन पैदल गश्त करें। जिसकी मॉनिटरिंग स्वयं आईजी जोन और डीआईजी रेंज करेंगे।

डीजीपी ने बताया कि प्रदेश में कानून का राज्य हो और एक-एक क्षेत्र गली, मुहल्ले के लोग अपराध से बेखौफ हो इसकी के लिए हर प्रयास पुलिस को करना हैं। इसको मद्देनजर जिले के सभी पुलिस अधीक्षक अपने सर्किल अधिकारियों के नेतृत्व में थानाप्रभारियों के साथ इलाके में 90 मिनट पैदल गश्त करवाये। गली-महौल्ले में जिन चौराहों पर लोगों को जमावड़ा होता है, वह पर एक पुलिस पिकेट जरुर लगाया जाय। डीजीपी कहना कि ड्यूटी में किसी भी अधिकारी की लापरवाही कतई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। इलाके में गश्त की मॉनटरिंग स्वयं आईजी जोन व डीआईजी रेंज करें।

पत्रकारों के सवालों पर डीजीपी ने बताया कि सीएम के निर्देशानुसार अभी तक 138 पुलिस अफसरों ने संपंति का ब्यौरा नहीं दिया हैं। अधिकारियों की लेटलतीफी पर मुख्य सचिव ने अफसरों से जवाब तलब किया और छह अप्रैल तक अपने संपंति का ब्यौरा सचिव कार्यालय में जमा कराने के निर्देश दिए हैं।