गठित पैनल देगा किसानों की कर्जमाफी पर अमरिंदर को रिपोर्ट

चंडीगढ़। यूपी में किसानों की कर्जमाफी के बाद देश के ज्यादातर राज्यों में अब ऋणमाफी की आवाज और बुलंद हो गई है। महाराष्ट्र सरकार के बाद पंजाब सरकार भी कर्जमाफी की बात पर विचार कर रही है हालांकि फैसले में किसानों को अभी कुछ समय का इंतजार करना पड़ सकता है।

दरअसल पंजाब के नए नवेले सीएम अमरिंदर सिंह ने किसानों की कर्जमाफी के मुद्दे के चलते एक पैनल का गठन किया है। इस पैनल का मुख्य काम कर्ज की सभी स्थितियों और आकड़ों का आंकलन करके सरकार को अपनी सिफारिशें देना है। इस पैनल के कमान फेमस कृषि विशेषज्ञ डॉक्टर टी हक को बनाया गया है। इसके साथ ही उनकी टीम में कई लोगों को शामिल किया है।

इसके साथ ही राज्य के एडीशनल मुख्य सचिव सतीश चंद्रा ने अधिसूचना जारी कर दी गई है। वहीं अगर उत्तर प्रदेश की बात करें तो कैबिनेट की पहली बैठक में ही योगी ने वादा पूरा करते हुए किसानों का कर्ज माफ करने का फैसला लिया। इस फैसले के चलते जिन किसानों ने भी एक लाख तक का फसली बीमा लिया है उसे माफ कर दिया है। सरकार के इस फैसले से 2.15 किसानों का फायदा होगा तो साथ ही छोटे और सीमांत किसानों को बड़ी राहत दी है।