उत्तर कोरिया ने अमेरिका को चेतावनी देते हुए कहा कि नहीं रूके तो भूगतना होगा अंजाम

नई दिल्ली। मिसाइल परीक्षण के बाद अब उत्तर कोरिया ने अमेरिका को धमकी दी है कि अगर उसने अपनी गति विधियाम नही रोकी तो उसका वो माकूल जवाब देगा। उत्तर कोरिया ने अमेरिका को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर अमेरिका मौजूदा सैन्य नीति जारी रखता है तो इसका उसको वाजिब जवाब दिया जाएगा। साथ कहा कि प्योंगयांग के दूसरे अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल लांच के प्रतिक्रियास्वरूप कड़े प्रतिबंध लगाए तो इसका भी माकुल जवाब देंगे। उत्तर कोरियाई विदेश मंत्रालय ने मीडिया के जरिेए जारी एक बयान में शुक्रवार के बैलिस्टिक मिसाइल लांच को देश की सैन्य क्षमताओं का एक प्रदर्शन बताया है।

north korea, warn, america, military, policy, action, foreign Ministry
north korea warn america military

बता दें कि विदेश मंत्रालय का कहना है कि उत्तर कोरिया की ओर से ये मिसाइल परीक्षण अमेरिका के लिए एक सख्त चेतावनी थी। ताकि वो बेवाकूफों वाली टिप्पणियां न करें। प्रतिबंध न लगाए और डीपीआरके (डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया) के खिलाफ कोई अभियान न चलाए।

वहीं एक और बयान में कोरिया ने कहा कि अमेरिका ने जिस तरह कोरिया पर प्रतिबंध लगाएं हैं और युद्ध करने की धमकी के साथ-साथ डीपीआरके के खिलाफ कड़े कदम उठाएं हैं। उससे कोरिया पर कोई असर नहीं पड़ा है बल्कि वो और ज्यादा मजबूत हो गया है। परमाणु बम हासिल करने का इसका कदम और न्यायोचित साबित हुआ है। इससे पहले अमेरिका ने उत्तर कोरिया के खिलाफ बीते शुक्रवार को आईसीबीएस लांच के जवाब में कोरियाई प्रायद्वीप के पास बी-1बी बमवर्षक तैनात कर दिए थे। जिससे उत्तर कोरिया चिढ़ा हुई है।

साथ ही अमेरिका ने कहा है कि वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कहेगा कि वह उत्तर कोरिया के खिलाफ कठोर प्रतिबंध लगाए और इसके साथ ही वह मिसाइल परीक्षण के जवाब में एकतरफा प्रतिबंध लगाने पर काम करेगा। उल्लेखनीय है कि प्योंगयांग ने शुक्रवार को ह्वासोंग-14 मिसाइल दागा था, जिसने लगभग 47 मिनट में 998 किलोमीटर की दूरी तय की थी और जापान सागर में गिरने से पहले 3,724.9 किलोमीटर की ऊंचाई पर पहुंचा था। उत्तर कोरिया ने इस लांच को सफल बताया था। साथ ही कहा था कि इससे साबित हो गया है कि प्योंगयांग अमेरिका के किसी भी हिस्से को मिसाइल से निशाना बना सकता है।