उत्तर कोरिया ने अमेरिका को चेताया, ना करे आतंकी देशों में शामिल करने की कोशिश

प्योंगयोंग। उत्तर कोरिया ने अमेरिका को कड़ी चेतावनी दी और कहा कि अगर उनके शासके के सौतेले भाई की हत्या को लेकर संदिग्ध के रूप में देश को आतंकी सूची में शामिल किया गया तो अमेरिका को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। यह जानकारी शनिवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली। उल्लेखनीय है कि किम जोंग नम (45) की हत्या कुआलालंपपुर हवाई अड्डे पर वीएक्स नर्व एजेंट से की गई थी। इस भयानक रासायनिक पदार्थ को नरसंहार करने वाले हथियार की श्रेणी में रखा गया है। उत्तर कोरिया का कहना है कि नम एक साजिश का शिकार हुए थे।

दक्षिण कोरियाई और जापानी मीडिया ने राजनयिक सूत्रों के हवाले से कहा था कि अमरिका उ. कोरिया को अपने आतंकी सूची में शामिल करने पर विचार कर रहा है। इस सूची में सीरिया और ईरान शामिल है।उत्तर कोरियाई विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि एक सम्मानित देश पर आधारहीन आरोप लगाने और उसे आतंकी सूची में फिर से शामिल करने पर अमेरिका को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।

प्रवक्ता ने कहा कि प्योंगयोंग हर तरह के आतंकवाद के खिलाफ है और कहा कि अमेरिका उसकी छवि खराब करने की कोशिश कर रहा है। उधर नम की हत्या के मामले में गिरफ्तार किए जाने के बाद निर्वासित किए गए उत्तर कोरियाई के नागरिक रि जोंग चोई ने बीजिंग में मलेशियाई जांच की निंदा की और कहा कि यह उत्तर कोरिया को बदनाम करने की एक साजिश है।