उत्तर कोरिया ने उप प्रधानमंत्री को मौत के घाट उतारा

सियोल। उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने उप प्रधानमंत्री किम योंग जिन को ‘क्रांतिकारी विरोधी तत्व’ होने के लिए मौत की सजा दे दी है। दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्रालय ने बुधवार को यह कहा है। समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, मंत्रालय के एक सूत्र ने कहा कि 63 वर्षीय राजनेता को कथित तौर पर जुलाई में मौत के घाट उतार दिया गया।

Kim Jong

अधिकारी के मुताबिक, जुलाई के अंत में एक महत्वूपर्ण संसदीय बैठक के दौरान उन्होंने नकारात्मक रवैया प्रदर्शित किया था, जिसके बाद उन्हें मौत की सजा देने का आदेश दे दिया गया था। सूत्र ने कहा कि यह जानकारी एकीकरण मंत्रालय के पास विभिन्न स्रोतों से पहुंची है, हालांकि खबर की पुष्टि करना असंभव है।

दक्षिण कोरिया के मुताबिक, उत्तरी कोरिया के दो अन्य प्रमुख राजनेताओं -अंतर कोरियाई मामलों के लिए जिम्मेदार उत्तरी कोरियाई संगठन ‘युनाइटेड फ्रंट डिपार्टमेंट’ (यूएफडी) के निदेशक 71 वर्षीय किम योंग-चोल और कोरियाई वर्कर्स पार्टी की केंद्रीय समिति के पहले उपनिदेशक चोई ह्वी को भी हाल ही में पुनर्शिक्षा के लिए भेज दिया गया था।