उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण से दुनिया में हंगामा

प्योंगयांग। डेमोक्रेटिक पापुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया (डीपीआरके) ने शुक्रवार को कहा कि उसने सफलतापूर्वक परमाणु बम विस्फोट परीक्षण को अंजाम दिया है। सरकारी टेलीविजन चैनल ने इसकी जानकारी दी। यह उत्तर कोरिया का पांचवां परमाणु परीक्षण था, जो आखिरी परीक्षण के आठ माह बाद किया गया।

koria

उत्तर कोरिया न्यूक्लियर वेपल्स इंस्टीट्यूट द्वारा जारी बयान में कहा गया कि यह परीक्षण नव वैज्ञानिकों और तकनीशियनों द्वारा बनाए गए परमाणु बमों की शक्ति जांचने के उद्देश्य से किया गया। यह कदम संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों और कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणुरहित रखने करने के प्रयासों का उल्लंघन है। परमाणु परीक्षण देश की स्थापना की 68वीं वर्षगांठ के अवसर पर किया गया।

उत्तर कोरिया को अमेरिका की चेतावनी

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने शुक्रवार को चेतावनी दी कि हाल में उत्तर कोरिया द्वारा किए गए परमाणु परीक्षण के लिए उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, व्हाइट हाउस ने कहा कि ओबामा ने परमाणु परीक्षण को उकसावे की कार्रवाई बताया और दोहराया कि अमेरिका एशिया और दुनिया भर में अपने सहयोगी देशों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है।

जब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सुसेन राइस ने उन्हें उत्तर कोरिया में भूकंपीय गतिविधि का पता चलने के बारे में बताया तो ओबामा ने फोन पर दक्षिण कोरिया की राष्ट्रपति पार्क ग्यून हे और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से भी बात की। उत्तर कोरिया के मुख्य परमाणु परीक्षण स्थल पुंग्ये-री में सुबह करीब 9.30 बजे रिक्टर पैमाने पर पांच तीव्रता वाले कृत्रिम भूकंप का पता चला था। अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण ने कहा कि भूकंप की तीव्रता 5.3 थी।

बयान में कहा गया कि उत्तर कोरिया की इस उकसावे की कार्रवाई पर विचार करने के लिए ओबामा अपने सहयोगी देशों और साझेदारों के साथ अगले कुछ दिनों तक चर्चा करेंगे। किसी प्रकार के परमाणु या प्रक्षेपास्त्र प्रौद्योगिकी के परीक्षण करने के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगा हुआ है। फिर भी, उसने इस साल जनवरी में अपना चौथा परमाणु परीक्षण किया था।