महाकाल मंदिर के आस-पास डेढ़ माह रहेगा नो व्हीकल जोन

उज्जैन। श्रावण-भादों मास में भगवान महाकाल की सवारियाँ निकाली जाएंगी एवं नागपंचमी पर्व मनाया जायेगा। आम श्रद्धालुओं को भगवान महाकाल के दर्शन एवं सवारी में भक्तों को दर्शन देने के लिए पालकी में विराजित भगवान महाकाल के आसानी से दर्शन हो सके, इसके लिए व्यापक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएगी। कलेक्टर संकेत भोंडवे ने महाकाल मंदिर प्रबंध समिति की बैठक लेकर निर्णय लिया कि महाकाल मंदिर के आस-पास 8 जुलाई से डेढ़ माह तक नो व्हीकल जोन रहेगा।

श्रावण माह में दौलतगंज से महाकाल मंदिर और हरीफाटक ओवर ब्रीज बेगमबाग से कोट मोहल्ला तक के रास्ते में पडने वाले मांस की दुकानों पर रोक लगाने का निर्णय लिया गया। महाकाल की प्रत्येक सवारियों में डी.जे. पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया। इसी तरह सवारी मार्ग में तय किये जाने वाले पांईटों पर ही तोपची अपनी तोप चलायेंगे।
कलेक्टर संकेत भोंडवे ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को सौंपे गये दायित्वों निर्वहन करने के निर्देश दिये। उन्होंने अधिकारियों को आपसी समनवय से सौंपे गये कार्यो को पूर्ण जिम्मेदारी के साथ करने को कहा। लोक निर्माण विभाग के अधिकारी को निर्देश दिये हैं कि वह प्रथम सवारी से सवारी मार्ग पर आवश्यक बैरिकेड्स लगाये जाएं।
विद्युत विभाग के अधिकारी को निर्देश दिये सवारी मार्ग में विद्युत तारों को व्यवस्थित किया जाये, साथ ही मार्ग में केवल लाईन आदि को भी ठीक किया जाये, ताकि सवारी मार्ग में बाधा उत्पन्न न हो सके। दूरसंचार विभाग के अधिकारी को निर्देश दिये कि सवारी मार्ग में टेलीफोन के तार आदि को सुव्यवस्थित किया जाये। रामघाट पर सवारी में चलने वाले हाथी के लिए अलग से बैरिकेड लगाने के निर्देश दिये।
महाकाल मंदिर के आस-पास के रहवासियों के वाहनों के लिए उन्हें पास जारी करने के निर्देश दिये, ताकि वह अपने वाहन अपने घरों तक ला सकेंगे। महाकाल मंदिर में सेवा देने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों के वाहनों की पार्किंग के लिए स्थान अलग से चयनित किया जायेगा। शीघ्र इसके लिए स्थान निर्धारित किया जायेगा।
कावडिय़ों की महाकाल मंदिर में प्रवेश व्यवस्था अलग से निर्धारत की जाएगी। कलेक्टर ने समस्त विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों तथा महाकाल मंदिर के समस्त सेवकों को निर्देशित किया है कि वह आपसी समनवय से अपनी सेवाएं दें। महाकाल मंदिर की सफाई, सुरक्षा एवं सौन्दर्यीकरण में हम सब की सोच बेहतर होना चाहिए। श्रावण माह में मंदिर के आस-पास खाद्य सामग्री के स्टॉल जैसे- फरियाली खिचड़ी आदि शंख द्वार से बेगमबाग कॉलोनी की ओर लगाई जाये। इस संबंध में मंदिर के कर्मचारी ई-रिक्षा से सतत प्रचार-प्रसार किया जाये।
श्रावण-भादों मास में भगवान महाकाल की सवारियां और नागपंचमी पर्व होने के कारण व्यवस्थाओं के संबंध में कलेक्टर संकेत भोंडवे ने गुरुवार का पूरा दिन महाकाल मंदिर में बिताया और अलग-अलग बैठकें आयोजित कर संबंधितों को दिशा निर्देश दिये।