शुरू हुआ चंपारण शताब्दी समारोह, नीतीश ने किया उद्घाटन

पटना। पटना के सम्राट अशोक कन्वेंशन सेंटर के ज्ञान भवन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बापू की प्रतिमा पर फूल अर्पित करने के साथ ” चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समाराेह ” की शुरूआत की। बता दें कि 10 अप्रैल को महात्मा गांधी के सत्याग्रह को 100 साल पूरे होने पर ये कार्यक्रम शुरू किया गया है जो एक साल तक चलेगा।इस मौके पर विचार विमर्श के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि आज के समय में एक बार फिर से बापू के विचारों को व्यापक तौर पर फैलाने की जरूरत है।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि शराब के कारण समाज बर्बाद हो रहा है इसलिए इसे बिहार में बंद करने का फैसला लिया गया। इस बड़े फैसले के बाद हम नशे से प्रदेश को मुक्ति दिलाने के लिए लड़ेंगे।

सामाजिक सुधारों के बारे में बात करते हुए नीतीश ने कहा कि हमारी अगला प्रयास समाज से दहेज जैसी कुप्रथा को हटाना होगा। हम पूरी कोशिश करेंगे की बिहार को दहेज मुक्त प्रदेश बने। इसके अलावा सरकार बाल विवाह को लेकर भी कई प्रयास कर रही है। इस बातचीत के दैरान सीएम नीतीश ने साईकिल योजना के बारे में भी बात की। उन्होंने गंगा नदी की बात छेड़ते हुए कहा कि देश में गंगा नदी की इतनी बुरी हालत है इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि देश की अन्य नदियों का क्या हाल होगा।

बता दें कि इस मौके पर मंच पर गाेपालकृष्ण गांधी, चंद्रशेखर धर्माधिकारी, प्रेरणा देसाई, मेधा पाटेकर, रजी अहमद, राजेंद्र सच्चर, सच्चिदानंद, टी सुब्बा राव, तेजस्वी यादव व अशाेक चाैधरी भी माैजूद थे।