आतंकी फंडिग पर NIA का शिकंजा, दिल्ली में तीन अलगाववादी नेताओं से पूछताछ

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने तीन कश्मीरी अलगाववादी नेताओं को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया हैं तीनों नेता पूछताछ में शामिल होने दिल्ली पहुंच गए हैं। एनआईए के हेड क्वार्टर में इन नेताओं से पूछताछ की जा रही हैं तीनों नेताओं पर आतंकवाद के लिए फंडिडग और विध्वंसक गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में हैं।


एनआईए ने अलगागवादी नेता फारुक अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे जावेद अहमद बाबा उर्फ गाजी और नईम खान को दिल्ली तलब किया हैं। इन तीनों नेताओं से प्रॅापर्टी दस्तावोजों के साथ साथ बैंक अकाउंट और विदेशी दौरें की जानकारी सौपनें को कहा गया हैं दिल्ली में एनआईए के हेड क्वार्टर में तीनों को आमने सामने बिठाकर एनआईए पूछताछ करेगी।
NIA पहले से ही क्रॉस बॉर्डर ट्रेड की जांच कर रही है. जिसमें कई 30 से 40 ट्रेडर्स से NIA पूछताछ कर चुकी है, जिन पर व्यापार के जरिये पाकिस्तान से पैसा लाने और अलगाववादी नेताओं तक पहुंचने का शक है।

NIA की जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि 2008 से 2016 के बीच भारत में ट्रेडिंग कंपनी के जरिये पुंछ और उरी के के रास्ते व्यापार के नाम पर 1550 करोड़ रुपये आये। NIA इस बारे में पूछताछ कर सकती है कि किन-किन व्यापरियों के जरिये इनके पास पैसा आया।

सूत्रों के मुताबिक NIA को शक है कि व्यापार के जरिये हुर्रियत नेताओं, JKLF, हिज्बुल आतंकियो के पास ये पैसा पहुंचा NIA के सूत्रों ने ये खुलासा किया है कि पाकिस्तान में सीमा पार से इस व्यापार को देखने के लिए पाकिस्तान की आर्मी ने अपने एक रिटायर्ड ब्रिगेडियर को लगा रखा था।