जानिए: आखिर क्यो खबर पढ़ते- पढ़ते रोने लगी ये एंकर, वीडियो वायरल

नई दिल्ली: लाइव शो के दौरान इजराइली एंकर उस वक्त अपने आंसूओं पर काबू नहीं कर पाई जब उसे पता चला कि ये उसका आखिरी शो है और इसके बाद वो कभी लाइव शो नहीं कर पाएगी। बता दें कि इजराइल के एक न्यूज ‘चैनल 1’ के फेमस ईवनिंग न्‍यूज प्रोगाम का 49 साल बाद मंगलवार को आखिरी प्रसारण हुआ। यह न्‍यूज प्रोग्राम साल 1968 से प्रसारित हो रहा था। कार्यक्रम के आखिरी प्रसारण की घोषणा करते वक्त न्‍यूज एंकर गेला एवन का दिल भर आया और उनकी आंखों में आंसू आ गए।

बता दें कि एवन गेला का ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में एंकर गेला के बोलने से पता चल रहा है कि वह कह रही है कि ये क्या हुआ? वह भावुक होकर रोने लगती है। उसे समझ में नहीं आता कि वह क्या कहे। इस बीच उसकी आंखें भर आती है। एंकरिंग के दौरान एक ब्रेकिंग न्यूज आती है कि संसद में कहा गया है कि आज से यह चैनल बंद हो जाएगा। वह कहती है आज रात हमारा आखिरी न्यूज प्रोग्राम होगा। वह रोते हुए बोलती है कि यह हमारा आखिरी कार्यक्रम होगा। सार्वजनिक रूप से वित्‍तपोषित ‘इजरायल ब्रॉडकास्‍ट एसोसिएशन’ के एंकर और चैनल के कई स्‍टाफ को इस फैसले की जानकारी कार्यक्रम के प्रसारण से थोड़ी देर पहले ही मिली थी। शाम को आखिरी शो के बाद शो से जुड़े लोग स्‍टेज पर आए और एकजुट होकर राष्‍ट्रगान गाया। रात को जब चैनल को बंद करने से पहले सभी चैनल के सभी कर्मचारी न्यूजरूम में राष्ट्रगान कर रहे थे तब उनमें से कई लोग रो रहे थे।

साथ ही 9 मई को चैनल वन के ऑफिशियल फेसबुक पर एंकर का 55 सेकेंड का वीडियो शेयर किया गया था। वीडियो क्लिप को अब तक 350000 बार देखा और 1950 से ज्यादा बार शेयर किया जा चुका है। वीडियो क्लिप से साफ है कि एंकर चैनल बंद होने की खबर सुन हैरान रह गई थीं। वह भावुक होकर कहती हैं कि हमें अभी-अभी ब्रेकिंग न्यूज मिली है कि संसद के बयान के मुताबिक आज रात हमारा आखिरी प्रोग्राम होगा। अंत में सिर्फ इतना कहूंगी कि ऐसा होने पर कई लोगों की नौकरी चली जाएगी।

मीडिय रिपोर्ट के मुताबिक इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने राजनीतिक लड़ाई के बाद अचानक राज्य में प्रसारित होने वाले चैनल को बंद कर दिया। एक बयान में पीएम नेतन्याहू ने कहा कि, शटडाउन करने से नए संगठन बनाने में मदद मिलेगी। दूसरी ओर, चैनल के कर्मचारी और विपक्षी सांसद उनपर ‘मीडिया को नियंत्रित’ करने का आरोप लगा रहे हैं।