नववर्ष पर गुरूवाणी के साथ शुरू हुआ प्रकाशपर्व

पटना| गांधी मैदान में बने दीवान साहिब दरबार में सबद-कीर्तन और गुरूवाणी के साथ ही प्रकाश पर्व का आज शुभारम्भ हो गया | तख्त श्री हरिमंदिर साहिब से पवित्र गुरूग्रंथ साहिब को गांधी मैदान में बने अस्थायी गुरूद्वारे में शुक्रवार को लाया गया था| बीती रात गुरूवाणी गुरूवाणी हुई और भक्तों ने गुरूवाणी के बीच नववर्ष का भी स्वागत किया। गांधी मैदान के अस्थायी गुरुद्वारे में दीवान साहिब की स्े बाद अरदास की गई। आनंद साहिब का पाठ हुआ और हुकुमनामा जारी किया गया | पर्यटन विभाग की प्रधान सचिव हरजोत कौर ने बताया कि गुरूग्रंथ साहिब को गांधी मैदान में बने अस्थायी गुरुद्वारे में तीन जनवरी को स्थापित किया जाना था किन्तु श्रद्धालुओं की मांग को देखते हुए इसे पहले ही लाया गया और प्रकाशोत्सव की शुरुआत कर दी गई।

विशिष्ट अतिथियों के अलावा देश-विदेश से आए श्रद्धालु भी अस्थायी गुरूद्वारे में मत्था टेककर आर्शीवाद ले रहे हैं और सभा मंडप में गुरूवाणी और सबद कीर्तन सुन रहे हैं। हरजोत कौर ने बताया कि गुरूग्रंथ साहिब जी के रात्रि में विश्राम के लिए अस्थाई गुरूद्वारे में एक कमरा बनाया गया है जहां वे पांच जनवरी तक रहेंगे। अमृतसर से आए भाई मनप्रीत सिंह ने गुरूवाणी के दौरान कहा कि परमात्मा का नाम जपन और गुरु साहिब जैसा बनना ही उद्देश्य है | उन्होंने कहा कि गुरु साहिब धरती की रक्षा के लिए सुख-सुविधा त्याग दिया और अपने पूरे परिवार का बलिदान दिया |