अनोखे अंदाज में नेताजी मांग रहे हैं वोट

शाहजहांपुर ।चुनाव में वोट मांगने के लिए वैसे तो नेता अलग अलग जतन करते है लेकिन यूपी के शाहजहांपुर में एक नेता जी बेहद अनोखे ढंग से वोट मांग रहे है। नेता जी महिलाओं और लड़कियों से राखी बंधवाकर उन्हे अपनी बहन बना रहे हैं। उनका कहना है कि एक लाख शादी शुदा महिलाओं से राखी बनाकर उन्हे एक लाख जीजा मिल जायेगे और वो चुनाव में जीत जायेंगे। वही इस प्रत्याशी के अनोख अंजाद को देखकर महिलाए उन्हे अपना वोट देकर जिताने की बात कर रही है।

महिलाओं से राखी बंधवा रहे इस प्रत्याशी का नाम किशन वैद्यराज है जो कि एक निर्दलीय प्रत्याशी है और इस बार विधान सभा चुनाव में नगर विधान सभा से मैदान में उतरे है। किशन अकेले ही स्कूटर के जरिए लोगों से वोट मांग रहे हैं । लेकिन उनका वोट मांगने का तरीका बेहद अनोखा है। वो घर घर जाकर महिलाओं और लड़कियों से राखी बंधवाकर उन्हे अपनी बहन बना रहे है। उनकी जेब में राखी बंधवाने के बाद देने के लिए जेब में एक भी कौड़ी नही है। वो महिलाओं और लड़कियों से राखी बंधवाकर चुनाव जीतकर कर्ज उतारने की कसम खा रहे है। किशन का कहना है कि वो एक लाख शादी शुदा महिलाओं को अपनी बहन बनाऐंगे और उनके वादा कर रहे है कि वो अपने पति से भी उन्हे वोट दिलवाए। इस तहर से उन्हे जीत के लिए वोट मिल जायेंगे। राखी बंधवाने के बाद वो जमीन पर लेटकर उनका आशीर्वाद भी ले रहे है। वो महिलाओं और लड़कियों से उनकी रक्षा का भी वाद कर रहे हैं।

निर्दलीय प्रत्याशी किशन वैद्यराज, कई माने तो आज के टाईम मे जितने भी नेता है उन लोगो ने राजनीति की परिभाषा ही बदल दी है। रेप, मर्डर, लूट, छेड़छाड़ जेसी घटनाएं नेताओ के लिए आम हो गई। जब चुनाव का वक्त आता है तो यही नेता हमारी मां बहनो के पास जाकर उनके पैर छूते है और गिडगिड़ा कर उनसे वोट मांगते हैं। और जब वह विधायक बन जाते हैं तो अपनी जिम्मेदारी को भूल जाते हैं। ऐसे ही नेताओ को खत्म करने के लिए वह चुनाव लङ रहे हैं। वैध राज का कहना है कि वह इस चुनाव मे एक लाख महिलाओं से अपने हाथ कई कलाई पर राखी बंधवा कर अपनी बहन बनाएंगे ओर जब एक लाख बहने बन जाएगी तो एक लाख जीजा भी बन जाएंगे उसके बाद मेरे हजारो भेजी भांजे भी होंगे तो फिर मेरी जीत पक्की हो जाएगी। साथ ही वैधराज ने बताया कि दिन मे वह जब किसी महिला से अपने राखी बंधवाते है तो उन बहनो से वह ये जरूर कहते है कि रात मे जब मेरे जीजा घर आ जाएं तो उनसे मेरा बताकर वोट देने के लिए राजी कर लेना। उनका कहना है कि राखी बंधवाने के बाद उनके जेब मे देने के लिए एक रूपया भी नही होता है। लेकिन वह अपनी बहनो से कसम खा कर वादा कर रहे हैं कि वह जीत के बाद उनकी सुरक्षा ज़रूर करेंगे।

इस प्रत्याशी के इस अन्जाद से महिलाएं बेहद खुश है क्योकि अभी तक जो भी नेता आए है वो सिर्फ वोट मांगने आए लेकिन ये एक ऐसा नेता है जो महिलाओं और लड़कियों को अपनी बहन बना रहा है। महिलाओं और लड़कियों का कहना है कि वो हर हाल में अपने भाई को चुनाव में जिताएं गई। राखी बांधने के बाद मीनू ने बताया कि ये अच्छा तरीका है वैधराज किशन का क्योंकि इसमे कुछ बनावटी नही लग रहा है जैसे आज के नेता है। हमने राखी बांधी है तो हम वोट भी वैधराज को ही देंगे।

वहीं एक और राखी बांधने वाली महिला रूखसार ने बताया कि जिस तरह से वैधराज किशन ने महिलाओं से राखी बंधवाकर वोट मांग रहे हैं इससे लगता है कि महिलाओ के तो वोट इन्हे मिल जाएंगे। और जब महिलाओं के वोट मिलेंगे तो उनके पति भी वोट वैधराज को ही देंगे साथ ही उन्होंने महिलाओ की सुरक्षा करने की कसम भी खाई है इसलिए आने वाले चुनाव मे वह वैधराज को ही वोट देकर जिताएंगी।

आपको बता दें किशन वैद्यराज ने अपना नामांकन भी बेहद अनोख ढंग से करवाया था। वो अर्थी पर लेटकर नामांकन के लिए गये थे। उनका कहना है कि वो नेता नही बनना चाहते बल्कि बहनों के भाई बनकर राजनीति का नया आयाम बनाना चाहते है। फिल्हाल इस चुनाव में ये प्रत्याशी यहां चर्चा का विषय बना हुआ है।

अभिषेक सिंह चौहान, संवाददाता