पनामा पेपर मामले में मंगलवार को कोर्ट पहुंचे नवाज शरीफ, 2 अक्टूबर को लगाएंगे अभियोग

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री पद से हटाए गए नवाज शरीफ को पनामा पेपर लीक मामले में भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों का सामना करने के लिए सोमवार को ब्रिटेन से स्वदेश लौट आए। वह बीते 31 अगस्त से अपनी पत्नी कुलसुम नवाज के पास लंदन में थे जो वहां गले के कैंसर का इलाज करा रही हैं। पार्टी पदाधिकारियों ने बताया कि शरीफ (67) ने अपने छोटे भाई एवं पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से विमर्श के बाद स्वदेश लौटने का फैसला किया। शरीफ को इस्लामाबाद लेकर पहुंचा विमान एयरपोर्ट पर सुबह करीब साढ़े सात बजे उतरा। आत्मविश्वास से लबरेज नजर आ रहे शरीफ विमान से बाहर आकर अपने समर्थकों की ओर हाथ हिलाते हुए आगे

nawaz sharif
nawaz sharif

बता दें कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज (पीएमएल-एन) के अधिकारियों ने बताया कि शरीफ इस्लामाबाद स्थित पंजाब भवन में ठहरेंगे और दो दिन पार्टी के नेताओं के साथ बैठक करेंगे। शरीफ के प्रवक्ता आसिफ किरमानी ने संवाददाताओं को बताया पूर्व प्रधानमंत्री मंगलवार को जवाबदेही के लिए अदालत में पेश हुए हालांकि अभी तक नवाज पर आरोप साबित नहीं हुए हैं। 2 अक्टूबर को उन पर आरोप साबित हो सकते हैं नवाज शरीफ को लेकर  उन्होंने कहा कि नवाज शरीफ राजनीतिक और कानूनी परामर्श के लिए सलाहकारों और पार्टी के नेताओं से मुलाकातें कर रहे हैं। वह मंगलवार को अदालत के समक्ष पेश हुए। शरीफ परिवार के खिलाफ भ्रष्टाचार के कई मामलों की सुनवाई कर रही इस्लामाबाद की जवाबदेही अदालत ने पिछले महीने नवाज शरीफ, उनकी बेटी मरियम और दामाद कैप्टन (सेवानिवृत्त) सफदर को समन भेजकर 26 सितंबर को अदालत में पेश होने का निर्देश दिया था।