पनामा मामले में चुप रहने के लिए नवाज ने ऑफर किए थे पैसे : इमरान खान

लाहौर। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही। पनामा पेपर्स मामले में पाक सुप्रीम कोर्ट ने राहत मिलने के बाद अब उन पर तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के मुखिया इमरान खान ने गंभीर आरोप लगाए है। इमरान का कहना है कि पनामा पेपर मामले में उन्हें शांत रहने के लिए 10 अरब रुपये का ऑफर दिया था।

हालांकि इमरान के इन आरोपों को नवाज की बेटी मरियम ने खारिज कर दी है। बता दें कि इस मामले पर कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट की 5 सदस्यीय बैंच ने 3-2 से फैसला सुनाया है। अपने इस फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने संयुक्त जांच टीम बनाने के लिए भी कहा है। कोर्ट ने कहा की संयुक्त जांच की टीम पैसा कतर भेजे जाने की जांच करेगी। साथ ही नवाज और उनके दोनों बेटों को संयुक्त जांच टीम के सामने पेश होना होगा।

जानिए क्या है पूरा मामला?

ये मुकदमा साल 1990 में नवाज के जरिए धन शोधन करके लंदन में प्रापर्टी खरीदने का है। उस वक्त में शरीफ 2 बार पाकिस्तान के मुख्यमंत्री रहे थे। इस केस की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट की 5 जजों की बेंच ने की थी जिसके मुखिया जस्टिस आसिफ सईद खोसा थे।

 (शिप्रा सक्सेना)