एन चंद्रशेखरन बने टाटा समूह के चेयरमैन

नई दिल्ली। हाल ही में साइरस मिस्त्री को टाटा समूह के चेयरमैन पद से हटाए जाने के बाद नटराजन चंद्रशेखरन को अपना नया चेयरमैन नियुक्त किया है। वे टाटा समूह के अंतरिम चेयरमैन रतन टाटा से कार्यभार लेंगे। गुरुवार को हुई बैठक में टाटा समूह की आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस (टीसीएस) के सीईओ एवं एमडी रहे एन चंद्रशेखरन को टाटा सन्स का चेयरमैन बनाने पर सहमति हुई।

साइरस मिस्त्री को हटाने के बाद से टाटा समूह के नए चेयरमैन को लेकर एक समिति बनाई गई थी, जिसे टाटा समूह के नए चेयरमैन की खोज की जिम्मेदारी दी गई थी। इस समिति में टाटा समूूह के लंबे समय तक चेयरमैन रहे रतन टाटा भी सदस्य थे। एन चंद्रशेखरन् के अलावा इस दौड़ में टाटा समूह के ही दूसरे पदाधिकारी और समूह के बाहर के भी कुछ नामों को लेकर कयास लगाए जा रहे थे।

एन चंद्रशेखरन् ने 1987 में टाटा समूह की आईटी कंपनी टीसीएस ज्वाइन की थी। उसके बाद से चंद्रशेखरन् टीसीएस में ही रहे। उन्हें साल 2009 में टीसीएस का सीईओ बनाया गया। चंद्रशेखरन् तब टाटा समूह की किसी भी कंपनी के सीईओ में सबसे कम उम्र के थे। चंद्रशेखरन् को 2016 में टाटा सन्स के निदेशक मंडल में शामिल किया गया था। तमिलनाडु के त्रिरूचापल्ली इंजीनियरिंग कॉलेज से मास्टर ऑफ कम्प्यूटर एप्लीकेशन (एमसीए) करने वाले चंद्रशेखरन् के नेतृत्व में टीसीएस टाटा समूह की सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली कंपनी बनी। गुरूवार को ही टीसीएस ने अपनी तीसरी तिमाही के वित्तीय नतीजे घोषित किए, जिसमें कंपनी ने 6778 करोड़ रुपये का लाभ कमाया है।