नेशनल शूटर ने किडनैपर्स को मारी गोली, अपने देवर को छुड़ाया

देवर को बदमाशों के कब्जे से छुड़ाने के लिए महिला नेशनल शूटर ने बहादुरी दिखाते हुए अपने देवर को बदमाशों के कब्जे से छुड़ा लिया। दरअसल शूटर आशया फलक के देवर आसिफ की रिहाई के लिए बदमाशों ने 25 हजार रुपयों की मांग की थी। जिसके बाद आयशा ने पुलिस को इस बात की सूचना दे दी। जिसके बाद प्लॉन के मुताबिक आधी रात को आयशा बदमाशों के पास पहुंची। जिसके बाद बदमाशों ने भागने की कोशिश की तो अपनी लाइसेंसी गन से आयशा ने बदमाशों को गोली मारकर घायल कर दिया। ऐसे में आयशा ने अपने देवर को बदमाशों की गिरफ्तर से छुड़ा लिया।

आयशा के देवर को गुरुवार को बदमाशों ने किडनैप कर लिया था जिसके बाद बदमाशों ने फिरौती की मांग की। ऐसे में आयशा ने खुद मौके पर जाना मुनासिब समझा। आयशा का कहना है कि फोन पर शख्स ने आसिफ की आजादी के लिए फिरौती की मांग की। फोन आने के बाद आयशा ने तुरंत इस बात की सूचना पुलिस को दे दी।

वही सोची समझी योजना के मुताबिक आयशा पैसे लेकर मौके पर पहुंची तो बदमाश मौके से फरार होने लगे। जिसके बाद आयशा ने बदमाशों का पीछा किया। आयशा ने बदमाशों को पैसे देने की बात कही जिसके बाद बदमाश रुक गए। पैसों के लेनदेन के वक्त बदमाशों को घिरे होने का शक हुआ तो बदमाश भागने लग गए। वही मौका पाकर आयशा ने अपनी लाइसेंसी गन से बदमाशों को घायल कर दिया और अपने देवर को उनके चुंगल ने बाहर निकाल लिया।