सऊदी में बढ़ सकता है फैमली टैक्स का बोझ, परिवार को वापस भेज रहे भारतीय

नई दिल्ली। सऊदी अरब में परिवार के साथ रहने वाले भारतीयों पर वहां के बढ़ने वाले फैमली टैक्स से उनकी जेबों पर असर पड़ सकता है। आने वाली 1 जुलाई को भारतीयों को परिवार के लिए अपनी जेबे ढीली करनी पड़ सकती है। क्योंकि सऊदी की सरकार ने भारतीयों पर अतिरिक्त टैक्स लगाने की बात कही है। जिसका असर वहां रह रहे 41 लाख भारतीयों पर पड़ेगा।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वहां रह रहे भारतीय अपने साथियों और साथ रह रहे परिवार के सदस्यों को वापिस भेजने की तैयारी कर रहे हैं। वहां रहने वाले भारतीय मोहम्मद ताहिर का कहना है कि बहुत जल्द मेरे साथी और जान पहचान वाले बहुत जल्द भारत वापिसी कर सकते हैं। क्योंकि वो लोग यहां के आर्थिक बोझ को सहने में सक्षम नहीं है। इसलिए वो वहां अपने साथ रह रहे परिवार को भारत वापिस भेज रहे हैं।

ये हैं सरकार के नियम

बता दें कि वहां कि सरकार ने एक नियम लागू किया है। जिसके मुताबिक वहां पर काम कर रहे भारतीयों के परिवार वालों को वहां रहने के लिए फैमली वीजा दिया जाता है। ये उन भारतीयों के दिया जाता है जो वहां पर 5000 रियाल महीना कमा रहे हो। इसके तहत एक व्यक्ति अपनी पत्नी और दो बच्चों को वहां रख सकता है। जिसके लिए उन्हें 5100 रूपये प्रति महीने के हिसाब से पैसे देने पड़ते हैं।

ये किए गए बदलाव

टैक्स को लेकर सरकार ने इस नियम में कुछ बदलाव किए हैं। जिसमें 2020 तक 100 रियाल प्रति महीने किया जा सकता है। इसका मतलब है कि व्यक्ति को अपने परिवार के लिए 400 रियाल देने होंगे। वहीं अगर देखा जाए तो अगर एक व्यक्ति के साथ उसके परिवार में एक बीवी और दो बच्चे रह रहे हैं तो उसे हर साल 3600 यानि 62,000 रूपये रियाल एडवांस में ही देने होंगे।