2018 तक पूरा होगा नर्मदा नहर परियोजना का काम : सुरेन्द्र गोयल

जयपुर। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने कहा कि जालौर जिले में नर्मदा नहर परियोजना का काम मार्च 2018 तक पूरा कर लिया जाएगा। गोयल ने मंगलवार प्रश्नकाल में विधायक द्वारा पूछे गए पूरक प्रश्नों के जवाब में बताया कि जालौर-भीनमाल में नर्मदा नहर परियोजना से जुडा 372.72 करोड़ रुपए के कार्य था, जिसका कार्यादेश 24 सितंबर, 2013 को दिया गया। इसके तहत 04 अक्टूबर 2013 को कायररंभ होकर 3 अक्टूबर 2016 को पूरा करना था। कंपनी ने 30 जनवरी तक 104. 13 करोड़ रुपये में 30 प्रतिशत तक काम कर लिया था। उन्होंने कहा काम में धीमी गति के चलते कंपनी पर 13.31 करोड़ रुपये की पेनल्टी लगाई गई है। उन्होंने कहा कि कंपनी ने मार्च 2018 तक कार्य पूरा करने के लिए आश्वस्त किया।

उन्होंने कहा कि जालौर-ईआर प्रोजेक्ट और क्लस्टर योजना को काम मार्च 2018 तक पूरा कर लिया जाएगा। इससे पहले विधायक नारायण सिंह देवल के मूल प्रश्न का जवाब देते हुए जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री ने कहा कि मैसर्स एसपीएमएल इन्फ्रा लिमिटेड, गुड़गांव को जिला जालौर सहित प्रदेश में नर्मदा नहर एवं अन्य सतही जल स्रोत आधारित वृहद् पेयजल परियोजनाओं के कार्य आदेश जारी किए गए हैं।

साथ ही बताया कि मैसर्स एसपीएमएल इन्फ्रा लिमिटेड, गुरुग्राम द्वारा जिन कारणों से पेयजल परियोजनाओं का कार्य निर्धारित समय पर पूर्ण नहीं किया गया है, उनमें मुख्यत अनुबंधक फर्म के स्तर पर कार्य को धीमी गति से किया जाना रहा है। इसके अतिरिक्त परियोजनाओं के कार्यों की गति अपरिहार्य कारणों यथा भूमि आवंटन में देरी, अन्य विभागों से वांछित स्वीकृति और अनुमति इत्यादि से प्रभावित रही है।