प्रेम प्रसंग में हत्या, रेलवे ट्रैक पर डाला युवक का शव

बलिया। यूपी में बढ़ रहा अपराध रुकने का नाम नही ले रहा है, आॅनर किलिंग की बात हो या  सरेराह हत्या का मामला अपराध लगातार जारी है।बलिया के बांसडीह थानां अंतर्गत मिश्रवली गांव में प्रेमी युगल दिलोजान से मुहब्बत करते थे लेकिन स्वजातीय न होना उनके प्रेम में अवरोध हो रहा था ।इसी बीच लड़की की शादी भी हो गयी पर लड़की का प्रेम बरक़रार रहा जो परिजनों को नागवार गुजरा ।

पिछले 17 मार्च को लड़के को पंचायत के माध्यम से सादी की बात करने के लिए प्रधान के घर बुलाया गया । लड़का पहुचा लेकिन परस्थिति भाप अपने घर फोन किया पर बात बताने से पहले ही फोन किसी ने ले लिया और उसकी लीला ही समाप्त कर दी ।इसके बाद इसके मौत को दुर्घटना का स्वरूप देने का प्रयास किया गया जिसके क्रम में इसके बॉडी को रेलवे हाल्ट छाता आस चौरा के समीप ट्रैक के बीच में डाला गया लेकिन परिजन किसी अनहोनी की आसंका से लड़के की खोज में लगे पर देर हो चुकी थी ।लेकिन आज तक इस हत्या का मुकदमा दर्ज न होना हत्या उद्योग में जुड़े पुलिस वालो पर सवालिया निशान है।

पुत्र की मौत के गुनाह गारो को सजा दिलाने के लिए अधेड़ पिता के पशीने छूट रहे है लेकिन जो इसके गुनाह गार है पुलिस की रहमो करम पर मटरगस्ती कर रहे है । प्यार करना इतना बड़ा गुनाह है कि इसकी सजा  मौत है ।पर मौत के गुनाह गारो को सजा दिलाने ज़े सभी मुकरने लगते है ऐसा नही होता तो  इस पिता के पुत्र के हत्यारो  को पुलिस तलासती लेकिन ऐसा नही है पुलिस के अधिकारी भी  जाच की बात दोहरा  कर अपनी जिम्मेदारियो से पल्ला झाड़ रहे है।