मुंबई को हराकर कलिंगा बना एचआईएल चैम्पियन

चंडीगढ़। कप्तान मारित्ज फुस्र्ते के दो गोलों की बदौलत कलिंगा लांसर्स ने दबंग मुंबई को 4-1 से मात देते हुए एचआईएल का खिताब अपने नाम कर लिया। कलिंगा पहली बार एचआईएल चैम्पियन बना है। चंडीगढ़ हॉकी स्टेडियम में हुए खिताबी मुकाबले में फुस्र्ते ने मैच के 18वें मिनट में ग्लेन टर्नर को फील्ड गोल दागने में अहम सहयोग किया। टर्नर के इस गोल की बदौलत कलिंगा ने मुंबई पर 2-0 की बढ़त हासिल कर ली।

मुंबई के लिए एकमात्र गोल मैच के 33वें मिनट में अफ्फान यूसुफ ने किया। मुंबई ने खिताबी मुकाबले की अपेक्षित दमदार शुरुआत की और विपक्षी टीम की अपेक्षा कहीं अधिक समय तक गेंद अपने कब्जे में रखने में भी सफल रहा। लेकिन गोल हासिल करने में वे लगभग असफल रहे।

कलिंगा ने वहीं अपनी पूरी ताकत झोंकते हुए आक्रामक खेल अपनाया, जिसका उसे जल्द ही फायदा मिला। टर्नर ने फुस्र्ते के शॉट को गोलपोस्ट की ओर डिफ्लेक्ट कर दिया और गेंद मुंबई के गोलकीपर डेविड हार्टे के पैरों के बीच से नेट में समा गई। इस बीच मैच के 30वें मिनट में कलिंगा को एक और पेनाल्टी कॉर्नर मिला, जिस पर फुस्र्ते ने हार्टे को छकाते हुए गोल दाग दिया और अपनी टीम की बढ़त को 3-0 कर दिया। जर्मन फॉरवर्ड फुस्र्ते का यह टूर्नामेंट में 11वां गोल था, जिसकी बदौलत कलिंगा ने मध्यांतर तक 3-0 की बढ़त हासिल कर ली थी।

मुंबई के पास बराबरी की मौका भी आया, लेकिन चार्टर ने उनकी कोशिश विफल कर दी। कीरन गोवर्स ने 57वें मिनट में मुंबई को करीब बराबरी दिला ही दी थी, लेकिन कलिंगा ने गोल पर रीव्यू ले लिया। रीव्यू में मुंबई का गोल नकार दिया गया। इसके 90 सेकेंड के भीतर फुस्र्ते ने पेनाल्टी पर एक और गोल दागते हुए कलिंगा की जीत पक्की कर दी।