धोनी का आलोचकों को करारा जवाब, पुणे को दिलाई 6 विकेट से जीत

पुणे। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दसवें संस्करण में बल्ले से कुछ खास न कर सकने के कारण आलोचकों के निशाने पर रहे पूर्व भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी की बेहतरीन नाबाद अर्धशतकीय (61) पारी की बदौलत राइजिंग पुणे ने हैदराबाद सनराइजर्स को 6 विकेट से हरा दिया। इस मैच में धोनी अपने पुराने रंग में दिखे और चौका लगाकर पुणे को जीत दिलाई। धोनी के साथ मनोज तिवारी 17 रन बनाकर नाबाद रहे। हैदराबाद ने राइजिंग पुणे के सामने 177 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसके जवाब में पुणे ने 20 वें ओवर की आखिरी गेंद पर 4 विकेट के नुकसान पर 179 रन बनाकर जीत हासिल की।

177 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पुणे की टीम की शुरूआत खराब रही। सलामी बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे (02) को बिपुल शर्मा ने सिद्धार्थ कौल के हाथों कैच आउट करवाया। पुणे का दूसरा विकेट स्टीव स्मिथ के रूप में गिरा। उन्हें 27 रन के स्कोर पर राशिद खान ने बोल्ड किया। पुणे की ओर से अच्छा खेल रहे राहुल त्रिपाठी दुर्भाग्यशाली रहे और वह 59 के निजी स्कोर पर धौनी के कॉल पर राशिद खान के सीधे थ्रो का शिकार बन गए। बेन स्टोक्स (08) को भुवनेश्वर ने स्थानापन्न खिलाड़ी विजय शंकर के हाथों कैच करा पुणे को चौथा झटका दिया।

इसके पहले पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में खेले जा रहे इस मैच में पुणे के कप्तान स्टीवन स्मिथ ने टॉस जीतकर पहले हैदराबाद को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। हैदराबाद ने मोइजेज हेनरिक्स (नाबाद 55) और कप्तान डेविड वार्नर (43) की शानदार पारियों के दम पर हैदराबाद ने ओवरों में 3 विकेट पर 176 रन बनाए।

हैदराबाद ने मैच में धीमी लेकिन सधी हुई शुरुआत की। मैच में धवन और वार्नर के बीच इस सीजन की किसी भी विकेट के लिए सबसे धीमी अर्धशतकीय साझेदारी हुई। दोनों ने पहले विकेट के लिए 8.1 ओवर में 55 रन की साझेदारी की।

हैदराबाद का पहला विकेट शिखर धवन (30) के रूप में गिरा। दूसरे बल्लेबाज के रूप में न्यूजीलैंड के केन विलियम्सन (14 गेंदों में 23 रन)आउट हुए। डेविड वार्नर 40 गेंदों पर 43 रन बना जयदेव उनादकट का शिकार हुए।

वहीं मोइजेज हेनरिक्स ने चौथे विकेट के लिए दीपक हूडा के साथ केवल 21 गेंदों में नाबाद 47 रन की साझेदारी की। हेनरिक्स केवल 28 गेंदों पर 55 रन बनाकर नाबाद रहे हैं। इस पारी में उन्होंने छह चौके और दो छक्के लगाए। दीपक हूडा ने केवल दस गेंदों पर 19 रन का योगदान दिया।