जन्म देने वाली मां के दोनों हाथ तोड़े : फतेहपुर

फतेहपुर। मां जो अपनी ममता को निस्वार्थ होकर अपने बच्चो के ऊपर लुटाती है। रात की नीन्द और दिन का चैन बेटे के लिए निछावर कर देती है,बेटे की एक चीख पर मां का कलेजा फट जाता हैं। आज उसी मां को उसी के लख्ते जिगर ने मार मार कर हाथ तोड़ दिया और घर से फरार हो गया। बेटे के दिए हुए जख्मों को लेकर एक मां अस्पताल में इलाज करा रही है। यह मामला उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले का है।

उत्तर प्रदेश फतेहपुर जिले के थाना असोथर निवासी रन्नो देवी पति सोमदत्त मिश्रा जिनके पांच बेटे थे, जिसमें से बीमारी के कारण तीन बेटों की मौत हो गयी। बचे दो बेटो को आपसी बटवारे के तहत जायजाद का माता पिता ने बटवारा कर दिया था। मगर इस बटवारे से छोटा बेटा राजेंद्र मिश्रा खुश नहीं था। आए दिन घर पर लड़ाई झगडा किया करता था। जिससे आजिज होकर दो वर्ष पूर्व पिता सोमदत्त मिश्रा बिन बताये घर से कहीं चले गए जिनका आज तक कोई पता नहीं है। घर पर आज फिर छोटे बेटे राजेंद्र मिश्रा ने जमीन जायजाद को लेकर कहा सुनी हुई,और बात इतनी बढ़ गयी की राजेंद्र मिश्रा ने ही मां पर ताबड़ तोड़ प्रहार कर दिया।

जिस में मां रन्नो देवी के दोनों हाथ टूट गये। मां की चीख पुकार सुन पड़ोस के लोग आये हालात नाजुक देख परिजनों ने आनन् फानन में लाकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर डाक्टर इलाज कर रहे हैं। और रन्नो देवी अपनी बेटे के द्वारा किये गये कृत्य पर आंसु बहा रही हैं। वही समर बहादुर सिंह सी ओ सिटी का कहना हैं, की एक मामला मेरे संज्ञान में मां बेटे के झगडे का आया हैं तहरीर ले ली गयी हैं। जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएग।